बारात लेकर पहुंचा कुत्ता-कुतिया के घर, शादी में शामिल हुए इतने लोग

बिहार के मोतिहारी जिले में कुत्ते और कुतिया की शादी धूमधाम से की गई। बैंड-बाजे के साथ कुत्ते की बारात निकाली गई। बारातियों ने जमकर डांस किया। कल्लू नाम के कुत्ते की बारात बसंती नामक कुतिया के घर पहुंची। इसके बाद दोनों की हिंदू रीति-रिवाज के साथ धूमधाम से शादी करवाई गई। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि कुत्ते की शादी के लिए बाकायदा मंडप भी बनाया गया था।

बारात लेकर पहुंचा कुत्ता-कुतिया के घर, शादी में शामिल हुए इतने लोग
x

बिहार के मोतिहारी जिले में कुत्ते और कुतिया की शादी धूमधाम से की गई। बैंड-बाजे के साथ कुत्ते की बारात निकाली गई। बारातियों ने जमकर डांस किया। कल्लू नाम के कुत्ते की बारात बसंती नामक कुतिया के घर पहुंची। इसके बाद दोनों की हिंदू रीति-रिवाज के साथ धूमधाम से शादी करवाई गई। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि कुत्ते की शादी के लिए बाकायदा मंडप भी बनाया गया था।


कुत्ते के सर पर सेहरा बांधा गया तो कुतिया को भी दुल्‍हन की तरह तैयार किया गया। बारात के लिए बैंड-बाजे के साथ-साथ डीजे भी बुक किया गया था। धूमधाम से बारात निकाली गई। बारातियों ने जमकर डांस किया। वरमाला के बाद पूरे गांव के लोगों को भोज खिलाया गया। शादी के बाद लोगों ने गिफ्ट भी दिए। इस अनोखी शादी को करवाने वाले पंडित का कहना है कि सभी लोगों को कुत्ता-कुतिया की शादी करवानी चाहिए। इससे मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। इस शादी को करवाने वाले शख्स नरेश साहनी ने बताया कि उनकी मन्नत पूरी हुई थी, इसलिए उन्होंने कुत्ता-कुतिया की शादी करवाई।


कल्लू (कुत्ता) और बंसती (कुतिया) की शादी को लेकर लोग तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि शादी में गांव के लोगों के अलावा कुछ दूसरे गांव से भी लोग पहुंचे थे। इस शादी को कराने वाले पंड‍ित धर्मेंद्र कुमार पांडेय ने कहा कि कुत्ते और कुतिया की शादी सभी को करानी चाहिए। ये भैरव के रूप होते हैं। इस तरह की शादी कराने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है।  

Next Story