सिंगापुर से सीखने की तैयारी में मोदी सरकार

मनीष कुमार, नई दिल्ली (25 अगस्त): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की डिक्शनरी में आराम नहीं है और न ही इस वीकेंड में उनके मंत्रियों और ब्यूरोक्रेट्स को छुट्टी है। सुशासन और विकास के लिए आने वाले 15 वर्षों के लिए नीति बनाने में लगा नीति आयोग शुक्रवार को एक नई पंरपरा शुरू करने जा रहा है। ट्रांसफार्मिंग इंडिया लेक्चर की शुरुआत हो रही है, जिसमें पहले वक्ता के तौर पर सिंगापुर के उपप्रधानमंत्री थर्मन षणमुखरत्नम को बुलाया गया है।

दिल्ली के विज्ञान भवन में होने वाले इस लेक्चर को सुनने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उनके कैबिनेट के 27 मंत्री, राज्यमंत्री और 1300 से ज्यादा ज्वाइंट सेक्रेटरी के ऊपर के अधिकारी भी श्रोता के तौर पर रहेंगे। राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी लेक्चर सुनने के लिए न्यौता भेजा गया है। षणमुखरत्नम नीति निर्माताओं को बताएंगे कि कैसे एक छोटे से देश सिंगापुर ने विकास कर दुनिया के अग्रणी देशों में अपना नाम शामिल करा लिया। षणमुखरत्नम अर्थव्यवस्था, गवर्नेन्स और विकास के मुद्दे पर लेक्चर देंगे और इसके बाद 4 घंटे का पैनल डिस्कशन होगा, जिसमें मंत्री और अधिकारी सवाल और जवाब कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने पूरी सरकार को सिर्फ इस लेक्चर को सुनने ही नहीं बल्कि हर मंत्री और अधिकारी से पूरी तैयारी के साथ आने को कहा है। जानकार मानते है कि ये अपनी तरह की शानदार शुरुआत है और इससे सुशासन में मदद मिलेगी। 6 घंटे के सत्र के बाद पीएम मोदी ने शाम को प्रधानमंत्री निवास पर एक और बैठक बुलाई है, जिसमें चार घंटे तक बजट में कई गई घोषणाओ को पूरा करने के लिए अब तक क्या हुआ, इसपर रिपोर्ट लेगें।