TRAI ने किया नेट न्यूट्रैलिटी का समर्थन

नई दिल्‍ली (8 फरवरी): भारतीय टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ने नेट न्यूट्रैलिटी के पक्ष में फैसला सुनाते हुए मोबाइल ऑपरेटर कंपनियों पर अलग-अलग डेटा इस्तेमाल के लिए अलग-अलग टैरिफ की पेशकश पर प्रतिबंध लगा दी है।

इसी के साथ ट्राई ने कहा कि अगर कोई कंपनी इसका उल्लंघन करती है तो उसको जुर्माना देना होगा। इस फैसले के साथ ही फेसबुक की फ्री इंटरनेट बेसिक अभियान को बड़ा झटका लगा है। टेलीकॉम कंपनियों ने उपभोक्ताओं को इसके तहत खास ऑफर देने की बात कही थी। फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने फ्री बेसिक्स स्कीम को लेकर कहा गया था कि इसके जरिए ग्रामीण भारत के लाखों लोगों को मुफ्त में इंटरनेट दी जाएगी।   भारतीय टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ने नेट न्यूट्रेलिटी के पक्ष में फैसला सुनाते हुए फेसबुक के फ्री बेसिक्स और एयरटेल के एयरटेस जीरो योजना को तगड़ा झटका दिया है। पहले फेसबुक ने फ्री बेसिक्स योजना को लागू कराने के लिए ट्राई पर काफी दबाव बनाया और अपनी योजना के पक्ष में पिटिशन साइन कराने का अभियान चलाया था। इसके पहले रिलांयस के साथ मिलकर फेसबुक ने इंटरनेट ओआरजी प्लान की घोषणा की थी।   ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने सोमवार को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अगर कोई सर्विस प्रोवाइडर इसे नहीं मानता है तो उससे टैरिफ प्लान वापस लेने कहा जाएगा। निर्देश के उल्लंघन की तारीख से ही उस पर 50 हजार रुपए रोजाना की दर से अधिकतम 50 लाख रुपए तक का जुर्माना लगाया जाएगा।