जियो के ग्राहकों के लिए बुरी खबर, फ्री 4जी मोबाइल सर्विस पर आ सकता है ये बड़ा फैसला

नई दिल्ली ( 27 दिसंबर ): दूरसंचार नियामक ट्राई ने मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो से फ्री ऑफर तीन महीने तक और बढ़ाने पर जवाब मांगा है। ट्राई ने पत्र लिखकर मोबाइल ऑपरेटर जियो से पूछा है कि मुफ्त इंटरनेट, कॉलिंग और एसएमएस सुविधा की पेशकश तीन दिसंबर के बाद आगे बढ़ाने को क्यों नहीं नियमों का उल्लंघन माना जाए।

जियो ने 90 दिनों के वेलकम ऑफर को हैपी न्यू इयर ऑफर के नाम से तीन माह के लिए (31 मार्च तक) बढ़ा दिया है। मौजूदा नियमों के मुताबिक कोई टेलीकॉम कंपनी 90 दिन की सीमित अवधि के लिए ही मुफ्त सेवा की पेशकश कर सकती है।

जियो ने अपने मुफ्त ऑफर के जरिये छह करोड़ से ज्यादा ग्राहक बनाए हैं। नियामक ने कंपनी से इस ऑफर को दिसंबर तक सीमित रखने के लिए कहा था। इसके बावजूद मुकेश की कंपनी ने मुफ्त सेवा की पेशकश को आगे बढ़ा दिया है। इस ऑफर से अन्य टेलीकॉम कंपनियों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

ऐसे में कई कंपनियों ने जियो के खिलाफ ट्राई के पास शिकायत दर्ज करवाई है। कंपनियों का कहना है कि इस ऑफर की वजह से कॉल ड्रॉप की दिक्कत भी बढ़ी है। नियामक ने मुकेश अंबानी की कंपनी को अपने सवालों का जवाब देने के लिए पांच दिन का समय दिया है।

इसके अलावा भारती एयरटेल ने जियो के खिलाफ दूरसंचार विवाद निवारण ट्रिब्यूनल (टीडीसैट) में याचिका दायर की है। इसकी सुनवाई चल रही है। अगर फैसला रिलायंस के खिलाफ आता है तो फिर जियो की मुफ्त 4जी मोबाइल सेवाएं 31 मार्च से पहले ही बंद हो सकती हैं। एयरटेल का आरोप है कि ट्राई जियो के नियमों के उल्लंघन को लेकर मूक दर्शक बना हुआ है। याचिका में मांग की गई है कि ट्राई को यह सुनिश्चित करे कि जियो 31 दिसंबर के मुफ्त कॉलिंग और डाटा सेवा योजना को जारी नहीं रखे।