ट्रैफिक जाम से भारत को हर साल होता है 1.4 लाख करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली (19 अप्रैल): देश में ट्रैफिक जाम एक आम समस्या हो गई है और इसकी वजह से देश को हर साल 1.4 लाख करोड़ रुपये का नुकासन होता है। ये खुलासा हुआ है ऊबर के लिए बॉस्टन कंसलटिंग ग्रुप की तरफ से की गई स्टडी में। रिपोर्ट के मुताबिक पीक आवर का ट्रैफिक दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु में हर साल 22 अरब डॉलर (करीब 1.44 लाख करोड़ रुपये) का नुकसान हो रहा है, जो नैशनल हाइवे अथॉरिटी के सालाना बजट से दोगुना है।

इसके मुताबिक पीक आवर का ट्रैफिक जाम दिल्ली में सामान्य समय के ट्रैफिक के मुकाबले 129 फीसदी टाइम ज्यादा लेता है, मुंबई में यह डेटा 135, बेंगलुरू में 162 और कोलकाता में 171 फीसदी ज्यादा है। यानी डेढ़ से दो गुना ज्यादा वक्त लोगों को लगता है। इससे होने वाले नुकसान की लागत में पेट्रोल डीजल, पलूशन, लोगों के समय का नुकसान आदि को फैक्टर माना गया। वहीं सिंगापुर में यह 57 फीसदी, हॉन्ग कॉन्ग में 63, ताइपेई में 70 और बैंगकॉक में 105 फीसदी ही है।