'रोनू' ने बांग्लादेश में लील लीं दो दर्जन जिंदगियां, 5 लाख विस्थापित

नई दिल्ली (21 मई): अट्ठासी किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आये चक्रवाती तूफान रोनू अब तक लगभग दो दर्जन से ज्यादा बांग्लादेशियों की जिंदगी लील चुका है। इस तूफान से बांग्लादेश के 14 तटीय जिले प्रभावित हुए हैं।

इन जिलों के  लगभग 5 लाख लोगों को अपने घर-बार छोड़कर सुरक्षित स्थानों की ओर जाना पड़ा है। इस तूफान की वज़ह से समुद्री लहरें 4 से 5 फीट ऊंची उठ रही हैं। इस चक्रवाती तूफान से खुलना, बाड़ीसाल, चिट्टगंव, सिलहेट, और ढाका में भारी बारिश की आशंका व्यक्त की है।

चिट्टगांव के पहाड़ी इलाकों में भू-स्खलन की आशंका जताई गयी है। मौसम विभाग आपदा राहत प्राधिकरण ने सभी पोर्ट्स बंद कर दिया है, और मछुआरों को समुद्र में न जाने का निर्देश दिया है। बांग्लादेश के सरकारी सूत्रों ने बताया है कि चक्रवाती तूफान से लोगों को बचाने के लिए चार हजार आश्रय स्थल बनाये गये हैं।