फ्री इंटरनेट रीचार्ज करेंगे ये ऐप, जानिए कैसे

नई दिल्ली(13 जनवरी): अगर कोई चीज फ्री में मिल रही है तो सबको पसंद आती है। लोग उसको दोनों हाथों से लपकना भी चाहते हैं। ऐसे में अगर फ्री में मोबाइल इंटरनेट डेटा मिल जाए तो इससें अच्छी बात और क्या हो सकती है।

कई ऐसे ऐप हैं जो वास्तव में आपको फ्री में इंटरनेट डेटा देते हैं। ये मोबाइल ऐप प्रीपेड यूजर्स के लिए तथा इनसें फ्री इंटरनेट रीचार्ज करना बेहद आसान भी है। आइए आपको बताते ऐसे ही पांच ऐप्स के बारे में जो आपके फोन में फ्री में इंटरनेट रिचार्ज कर देंगे।

जिगाटो

मोबाइल फोन में फ्री इंटरनेट रिचार्ज करने वाला यह सहसे शानदार ऐप है। जिगाटो अपने यूजर्स को ऐप पर इंटरनेट डेटा कमाने का विकल्प देता है। इसके लिए आपको जिगाटो ऐप इंस्टॉल करना होगा। इसके बाद यह आपको कई अलग ऐप का सुझाव देगा जिन्हें आप यूज करके इंटरनेट डेटा कमा सकते हैं। बता दें कि आमतौर पर कमाया गया इंटरनेट डेटा इन ऐप को इस्तेमाल करने में खर्च किए गए डेटा से ज्यादा होता है। हालांकि इन ऐप्स को यूज करने पर शुरू में डेटा की खपत होती है, लेकिन बाद में आप फ्री में डेटा कमा सकते हैं। इस ऐप को जब आप लॉन्च करेंगे तो आपको इसके द्वारा समर्थित एप्स की सूची मिलेगी। इस सूची में वही ऐप होंगे जो आपके डिवाइस पर पहले से मौजूद हैं।

इसके बाद जिगाटो आपको फ्री डेटा के लिए कई एप इंस्टॉल करने का सुझाव देगा। यह देखते हुए कि जिगाटो में कई लोकप्रिय ऐप पहले से मौजूद हैं, इसलिए आपको अपने इस्तेमाल करने के तरीके कोई खास बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके अलावा जिगाटो को इंस्टॉल करते वक्त आप इसे अपने मोबाइल में मौजूद ऐप की जांच करने की इज़ाजत भी देते हैं। यूजऱ और जानकारों का मानना है कि जिगाटो आपकी निजता का उल्लंघन नहीं करता। इस एप को आप गूगल प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड कर सके हैं।

अर्न टॉकटाइम

बहुत हद तक जिगाटो जैसा ही एप है। यह भी आपको दूसरे एप इस्तेमाल करने की एवज में फ्री इंटरनेट डेटा देता है। हालांकि, इसका तरीका थोड़ा अलग है। जिगाटो आपको एप पर मोबाइल डेटा इस्तेमाल करने के लिए रीचार्ज देता है, जबकि अर्न टॉकटाइम ऐप आपको पैसे दते है जिसका इस्तेमाल आप प्रीपेड रीचर्ज लिए कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने दोस्तों को भी इस एप के बारे में सुझाव देकर कमा सकते हैं। इसके बाद कमाए हुए पैसे का इस्तेमाल इंटरनेट डेटा खरीदने के लिए किया जा सकता है। इस एप द्वारा निजता के उल्लंघन की जानकारी नहीं सामने आई है। हालांकि, इस एप के काम करने के अंदाज को देखते हुए आपको नजर बनाए रखना चाहिए। इस एप को भी आप गूगल प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।   

पेट्यूंस

जिगाटो या अर्न टॉकटाइम पर आपको टॉक टाइम कमाने के लिए अलग-अलग काम करने पड़ते हैं, जबकि पेट्यून्स एप आपके रिंगटोन को विज्ञापन से बदल देता है। इसके बाद आपको हर कॉल के लिए पैसे मिलते हैं। पेट्यून्स हर दिन आपके फोन की एक्टिविटी का हिस्सा बन जाता है। पेआउट्स बहुत ज्यादा नहीं हैं। एप पर 1 रूपया कमाने के लिए आपको तीन कॉल का जवाब देना होगा। अगर आपको दिन में 15 फोन कॉल भी आते हैं तो महीने में आप 150 रूपए कमाएंगे। इसका इस्तेमाल मोबीक्विक के जरिए डेटा पैक रीचार्ज करने या अन्य बिल देने के लिए किया जा सकता है। इस एप को भी आप गूगल प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।

माई एड्स

इस एप का कंसेप्ट इतना स्पष्ट है कि कुछ भ्भी समझाने की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि यह इस आधार पर काम करता है कि विज्ञापन देखें, फिर उसके बारे में कुछ आसान सवाल का जवाब देकर पैसे कमाएं। आप वाई-फाई नेटवर्क में विज्ञापन देख सकते हैं। आपको अन्य एप डाउनलोड करने या इस्तेमाल करने की भी जरूरत नहीं। हालांकि वैसे तो विज्ञापन देखना उतना आसान नहीं। लेकिन 45 सेकेंड के विज्ञापन देखने के लिए 8 रूपए मिलना, हमें एक बेहतरीन विकल्प लगता है। इस पैसे का इस्तेमाल आप अपने फोन को रीचार्ज करने के लिए या मोबाइल डेटा खरीदने के लिए कर सकते हैं। इस एप को भी आप बिल्कुल फ्री में गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।  

फोन को रीचार्ज करके

फ्रीचार्ज, पेटीम, मोबाक्विक या एयरटेल मनी जैसे एप आपको ऑनलाइन मोबाइल रीचार्ज करने का विकल्प तो देते ही हैं, साथ में कुछ स्पेशल डील और कैशबैक ऑफर भी साथ आते हैं। इसका मतलब है कि जब आप अपने फोन को रीचार्ज करते हैं, इनमें से किसी एप को इस्तेमाल करके आप स्पेशल ऑफर का फायदा उठा सकते हैं। ये ऑफर हर दिन के लिए अलग होते हैं। इसलिए मोबाइल पर दो-तीन एप इंस्टॉल रखें और रीचार्ज करने से पहले हर प्लेटफॉर्म पर ऑफर की जांच कर लें। ऐसा करके आप पैसे बचा सकते हैं।