आइएसआई-हाफिज सईद और हक्कानी नेटवर्क के गठजोड़ का पर्दाफाश

नई दिल्ली (7 अक्टूबर): उरी हमला और भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान में कई आतंकी सरगना एकसाथ नजर आए हैं। इनमें 26/11 मुंबई हमले की साजिश में शामिल रहा हाफिज सईद, पाकिस्तान में हक्कानी नेटवर्क का सरगना समी उल हक और पूर्व आईएसआई चीफ हामिद गुल का बेटा अब्दुल्ला शामिल है। यह खबर ऐसे समय सामने आई है जब पाक सरकार ने वॉर्निंग दी है कि आतंकियों पर कार्रवाई को लेकर मिलिट्री और इंटेलिजेंस किसी तरह की दखलन्दाजी न करे। 

- आतंकी सरगनाओं के बीच मीटिंग की  फोटो भारत के न्यूज चैनल  ने जारी की है। सरगनाओं का एक साथ आना बताता है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद हमला करने की साजिश रची जा रही है।

- मीटिंग में पूर्व आईएसआई चीफ हामिद गुल का बेटा भी था। गुल को पाकिस्तान में आतंकवाद का गॉडफादर भी कहा जाता है। पिछले साल उसकी मौत हो गई थी। उसे हाफिज सईद का सपोर्टर माना जाता था।

- ये भी बताया जाता है अब हामिद का बेटा अब्दुल्ला आईएसआई और सईद के बीच की मजबूत कड़ी का काम करता है। अब्दुल्ला के हिजबुल मुजाहिदीन से भी अच्छे ताल्लुकात बताए जाते हैं।

- जुलाई में सामने आई अब्दुल्ला की पाक एनएसए नसीर खान जंजुआ के साथ भी एक फोटो सामने आई थी। 

- माना जाता है कि हामिद का बेटा होने के चलते अब्दुल्ला को पाक की सरकारी एजेंसियों में आसानी से एंट्री मिल जाती है और इसे वह अपनी भारत विरोधी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल करता है।

- सर्जिकल स्ट्राइक के बाद कश्मीर में बारामूला और हंदवाड़ा के लंगेट में आतंकी हमला हो चुका है।

- पाकिस्तान हमेशा से हाफिज सईद को किसी भी तरह के सपोर्ट से इनकार करता रहा है। सईद, एक दिफाए पाकिस्तान काउंसिल (डीपीसी) ग्रुप का चीफ भी है। ये ग्रुप भारत और अमेरिका का विरोध करता है।