रियो ओलंपिक में मेडल के लिए ये हैं भारत की टॉप 10 उम्मीदें

राजीव झा, नई दिल्ली (5 अगस्त) :  योगेश्वर दत्त ... अभिनव बिंद्रा... जीतू राय ... हीना सिद्दू ...दीपीका कुमारी ... शिव थापा ... विकास कृष्णा यादव ...सानिया मिर्जा- रोहन बोपन्ना ... साइना नेहवाल और भारतीय हॉकी टीम। जी हां, रियो ओलंपिक में मेडल के लिए इन 10 पर रहने वाली है पूरे हिंदुस्तान की नजर। शनिवार तड़के रियो ओलंपिक के आगाज़ के साथ ही खेल के महाकुंभ के एक-एक मिनट का हाल जानने के लिए हर खेल प्रेमी बेचैन होगा।

ओलंपिक के इतिहास में पहली बार इतने बड़े भारतीय दल को ओलंपिक में भेजा गया है। 118 भारतीय खिलाड़ियों पर देश के सवा सौ करोड़ लोगों की उम्मीद टिकी हुई है। लेकिन जिनसे सबसे ज्यादा मेडल की उम्मीद है वो हैं ये दस चेहरे।

1- योगेश्वर दत्त, कुश्ती हरियाणा के इस पहलवान ने 2012 के पिछले ओलंपिक में भारत के ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया था ... और अब चार साल बाद योगेश्वर दत्त से रियो में सबसे बड़ी उम्मीद है ... माना जा रहा है कि योगेश्वर इस बार गोल्ड जीत सकते हैं ... 2.अभिनव बिंद्रा, शूटर  शूटर अभिनव बिंद्रा वो भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने पहली बार भारत के लिए किसी व्यक्तिगत स्पर्धा में गोल्ड जीता है ... 2008 के बीजिंग ओलंपिक में हिंदुस्तान को गोल्ड दिलाने वाले अभिवन से रियो में सबसे ज्यादा उम्मीद है .. वैसे भी रियो ओलंपिक अभिनव बिंद्रा के लिए अंतिम ओलंपिक होगा .. अपने पांचवें ओलंपिक को बिंद्रा गोल्ड जीत कर यादगार बनाना चाहेंगे 3- जीतू राय, शूटर जीतू राय अभिनव बिंद्रा के बाद दूसरे निशानेबाज जिससे पूरा देश मेडल की उम्मीद कर रहा है ...जीतू शनिवार कल 10 मीटर एयर पिस्टल में उतरेंगे... जीतू 50 मीटर पिस्टल में वर्ल्ड चैम्पियन हैं और दोनों ही कैटेगरी में चुनौती पेश करेंगे... एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स , वर्ल्ड चैम्पियनशिप और वर्ल्ड कप में पदक जीत चुके जीतू ने रियो जाने से पहला कहा कि "मुझे नहीं पता था कि ओलंपिक क्या होता है। मैं गांव से आया हूं और वैसा ही रहना चाहता हूं।" 4- शिव थापा, बॉक्सिंग  बॉक्सिंग में सबसे बड़ी उम्मीद है शिव थापा से ...युवा शिव थापा ने 18 साल की उम्र में पिछले ओलंपिक में हिस्सा लिया था .. लेकिन 18 साल के थापा लंदन ओलंपिक के पहले ही दौर से बाहर हो गए थे ... जिसकी कसक थापा रियो में मेडल जीत कर पूरी करना चाहते हैं .... 5. विकास कृष्णा यादव, बॉक्सिंग  एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाले विकास कृष्णा यादव से भी बॉक्सिंग में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है ... रियो रवाना होने से पहले विकास कृष्णा यादव ने अपने फैन्स को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई है। 6. सानिया-रोहन बोपन्ना, टेनिस  इस साल रियो में हिंदुस्तान को टेनिस से भी काफी उम्मीद है खास कर सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की मिक्स्ड डबल्स से। पिछले साल मार्टिना हिंगिस और सानिया की जोड़ी ने कई कामाबी अपने नाम की है ... जिसके बाद सानिया के साथ रोहन बोपन्ना की जोड़ी को रियो में मेडल का दावेदार माना जा रहा है। 7 . साइना नेहवाल, बैंडमिंटन  साइना नेहवाल ... बैंडमिंटन की नंबर 1 खिलाड़ी ... पिछले दो साल में हिंदुस्तान की इस बेटी ने वो मुकाम हासिल किया है जो हर खिलाड़ी का सपना होता है ... और इसी सपने को नई उड़ान देने के लिए साइना रियो गई है ... बैंडमिंटन में इस बार हिंदुस्तान की इस बेटी से हर किसी को गोल्ड की उम्मीद है। 8 . भारतीय हॉकी टीम भारतीय हॉकी टीम यानि कि 8 बार गोल्ड पर कब्जा करने वाली वो भारतीय हॉकी टीम जिसकी चमक पिछले 2 दशक से गायब हो गई है ... हिंदुस्तान ने ओवंपिक में अब तक 9 गोल्ड मेडल जीते हैं जिसमें से 8 मेडल अकेले हॉकी टीम के नाम है ... इस साल 34 साल बाद जिस तरह चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम का प्रदर्शन देखने को मिला उसके बाद इस टीम से मेडल की उम्मीद की जा रही है ... वैसे भी भारतीय हॉकी टीम रियो में नया इतिहास रचने के साथ साथ पुराना रुतबा वापिस चाहता है। 9- हिना सिद्दू, महिला शूटर इसके आलावा हीना सिद्दू भी महिला शूटिंग में मेडल की सबसे बड़ी दावेदार मानी जा रही है। 10- दीपिका कुमारी, तीरंदाजी तींरदाजी में पूरे देश को रांची की दीपिका से काफी उम्मीदें है.. पिछले ओलंपिक में भले ही दीपिका ने मेडल पर निशाना नहीं साध पाई थी.. लेकिन रियो में इस बार दीपिका का निशाना मेडल पर लग सकता है।