जानें आपने टूथपेस्ट में यह केमिकल तो नहीं जो देता है कैंसर?

पल्लवी झा, नई दिल्ली (6 अगस्त): दांतो को चमकाने के लिए आप लोग टूथपेस्ट का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपका टूथपेस्ट सुरक्षित है भी या नहीं। टॉक्सिक लिंक नाम की एक एनजीओ की रिसर्च के नतीजों के बारे में सुनेंगे तो आपके भी ज़हन में ये सवाल उठेगा। रिसर्च में पता लगा है कि मार्केट में मौजूद टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसन नाम का ख़तरनाक केमिकल है। ये कैमिकल टूथपेस्ट के अलावा हैंड वॉश में भी मिला है।

एनजीओ की रिसर्च में जो बातें सामने आईं उनके बारे में जान कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे। इस रिसर्च में बताया गया है कि...

- टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसन नाम के केमिकल का इस्तेमाल हो रहा है। - कई टूथपेस्ट में तय मात्रा से ज्यादा ट्राइक्लोसन पाया गया। - ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड के मुताबिक ट्राइक्लोसन की तय मात्रा 0.3% है। - टॉक्सिक लिंक ने कुल 11 टूथपेस्ट पर ये रिसर्च की, जिसमें से 4 में तय मात्रा से ज्यादा ट्राइक्लोसन पाया गया। - 4 टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसन तय सीमा तक या उसके नीचे मिला, 3 टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसन नहीं मिला।

टॉक्सिक लिंक का कहना है कि ट्राइक्लोसन का इस्तेमाल केवल टूथपेस्ट में ही नहीं होता बल्कि साबुन, हैंड वॉश, हैंड सेनाइटाइज़र में भी होता है। रिसर्च में टूथपेस्ट के साथ ही हैंडवॉश और हैंड सेनिटाइज़र के सैंपल्स की भी पड़ताल की गई।

टॉक्सिक लिंक का कहना है कि भारत में ट्राइक्लोसन को लेकर ज्यादा रिसर्च नहीं हुई है, लेकिन दुनिया भर में इसके खतरों पर रिसर्च हो रही है। संस्था का कहना है कि ट्राइक्लोसन के ख़तरों को देखते हुए ही कुछ कंपनियां इसके इस्तेमाल से परहेज कर रही हैं। ट्राइक्लोसन न केवल इंसानी शरीर बल्कि पूरे इको सिस्टम के लिए ख़तरनाक है। डॉक्टर्स का कहना है कि ट्राइक्लोसन से कैंसर होने का ख़तरा है। इसके अलावा इससे ड़िप्रैशन और लिवर की बीमारी भी हो सकती है।

अमेरिकी संस्था EPA ने तो ट्राइक्लोसन को पेस्टीसाइड की श्रेणी में रखा है और इसके इस्तेमाल पर बैन लगा दिया है। केवल इंसानी शरीर ही नहीं बल्कि इको सिस्टम पर भी इसका असर पड़ता है। टॉक्सिल लिंक का कहना है कि जब हम ब्रश करके थूकते हैं या हाथ धोते हैं तो वेस्ट ड्रेनेज के ज़रिए पानी में मिलता है और इस तरह ट्राइक्लोसन ईको सिस्टम में आ जाता है जिसके घातक परिणाम हो सकते हैं।

वीडियो: [embed]https://www.youtube.com/watch?v=TP_lsMtWdwI[/embed]