केजरीवाल से दोस्ती ने रंग दिखाया, भगवंत के समर्थन में आईं ममता

नई दिल्ली (27 जुलाई): केजरीवाल से दोस्ती ने रंग दिखाना शुरू कर दिया है। ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी भगवंत मान के साथ में उतर आई है।

- टीएमसी भगवंत मान की जांच समिति का समर्थन करेगी। - टीएमसी का मानना है कि भगवंत मान ने जो भी किया वह जानबूझकर नहीं किया। - टीएमसी मानती है कि भगवंत मान की मंशा सिक्योरिटी प्वाइंट को एक्सपोज़ करना नहीं था। - गौरतलब है, टीएमसी सांसद रचना डे उस 9 सदस्यीय जांच समिति की सदस्य हैं।

क्या है पूरा मामला आप सांसद भगवंत मान ने संसद में शून्यकाल के दौरान सवालों के चयन की प्रक्रिया दिखाई। इस दौरान उन्होंने घर से संसद भवन भीतर जाने तक का रास्ता का भी शूट कर अपने फेसबुक पर डाल दिया। इस वीडियो ने हाई सिक्योरिटी जोन की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया।

अपनी सफाई में भगवंत मान ने कहा कि स्पीकर ने माफी मांगने को कहा, तो मैंने माफी मांग ली। इसके बाद भी राजनीति की जा रही है। उन्होंने जांच कमेटी के अधिकारियों का दायरा बढ़ाने की भी मांग उठाई है।

पठानकोट हमले का जिक्र करते हुए भगवंत मान ने कहा कि पीएम ने भी आईएसआई के लोगों को एयरफोर्स बेस के भीतर जाने की इजाजत दी है। उनके खिलाफ भी कमेटी को जांच करनी चाहिए। भगवंत मान के वीडियो की जांच के लिए लोकसभा स्पीकर ने एक कमेटी का गठन किया है।