2018 में पहली यात्रा करेगा 'टाइटैनिक-2'

नई दिल्ली (13 फरवरी): एक सदी से भी ज्यादा समय पहले टाइटैनिक जहाज एक भयानक दुर्घटना में अपनी पहली यात्रा के दौरान उत्तरी अटलांटिक सागर में डूब गया था। अब इसी जहाज के एक नए प्रतिरूप को साल 2018 में तैराने की तैयारी की जा रही है।

अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, एक ऑस्ट्रेलियाई अरबपति क्लिव पालमर और उनकी कंपनी ब्लू स्टार लाइन ने टाइटैनिक-2 का निर्माण कर रही है। जिसमें 30 करोड़ पाउंड (2,960 करोड़ रुपए) की लागत आई है। टाइटैनिक-2, 270 मीटर लंबा और 53 मीटर ऊंचाई का जहाज होगा। जबकि इसका वजन 40,000 टन होगा।

असली जहाज की तुलना में यह जहाज चौड़ाई में चार मीटर ज्यादा होगा। जो कि 21वीं सदी के सेफ्टी रेगुलेशन्स के लिए जरूरी है। इसमें पर्याप्त लाइफ-बोट्स के साथ मरीन इवैकुएशन सिस्टम्स भी होंगे। इसके अलावा असली लाइफबोट्स के बोट डैक हाउसिंग के प्रतिरूप भी शामिल होंगे।

टाइटैनिक-2 की पहली यात्रा असली जहाज की तरह साउथहैंप्टन से न्यूयॉर्क के लिए नहीं होगी। ये पूर्वी चीन के जियांग्सू से दुबई के लिए रवाना होगा।   ब्लू स्टार लाइन्स के मार्केटिंग डायरेक्टर जेम्स मैक्डोनाल्ड ने बताया, "नया टाइटैनिक में जरूर ही मॉडर्न इवैकुएशन प्रोसीजर्स, सैटेलाइट कंट्रोल्स, डिजिटल नेवीगेशन और राडार सिस्टम्स होंगे। इसके अलावा 21वीं सदी के जहाज में जो भी नई चीजों की आप उम्मीद करते हैं, वे भी होंगी।"