मुझे डायरेक्टर ने कमरे में बुलाया और फिर...

 

नई दिल्ली(7 अगस्त): बॉलिवुड एक्ट्रेस टिस्का चोपड़ा ने इंडस्ट्री में फिल्म के बदले जिस्म से समझौता करने की एक सनसनीखेज कहानी बताई है। 'फिराक', 'तारे जमीं पर' जैसी फिल्मों में नजर आईं एक्ट्रेस टिस्का चोपड़ा ने कास्टिंग काउच से जुड़ी अपनी स्टोरी Kommune India नामक यूट्यूब चैनल के साथ शेयर की।

 

- टिस्का के मुताबिक यह वाक्या उस वक्त है जब उन्होंने बॉलीवुड में डेब्यू कर लिया था, लेकिन वह नए प्रोजेक्ट्स के लिए मशक्कत कर रही थीं। इसी बीच एक जाने-माने फिल्ममेकर ने उन्हें मूवी के लिए साइन किया।

- जिस डायरेक्टर ने उन्हें साइन किया था उनकी इमेज थोड़ी केसेनोवा की तरह थी। दोस्तों की चेतावनी के बावजूद टिस्का ने फिल्म की शूटिंग शुरू की। फिल्म की आउटडोर शूटिंग के लिए पूरी टीम विदेश गई। शुरुआती दिन तो ठीक-ठाक बीते, लेकिन कुछ दिनों बाद उस डायरेक्टर ने उन्हें रात को अपने कमरे में डिनर करने और फिल्म की स्क्रिप्ट पढऩे के लिए बुलाया।

- डायरेक्टर की बात सुनने ही टिस्का समझ गई थी कि उसकी नियत ठीक नहीं है। जैसी ही बुके और चॉकलेट्स लेकर टिस्का ने डायरेक्टर का रूम खटखटाया। तो मरून कलर की लूंगी पहने सोफे पर बैठे डायरेक्टर को देख वह चौंक गई थीं।

- दिलचस्प बात यह थी कि जिस रात उस डायरेक्टर ने टिस्का को डिनर पर इनवाइट किया था। उसी रात फिल्म की टीम ने बाहर डिनर पर जाने के प्लान बनाया था। रूम के अंदर जाने के बाद टिस्का ने उस डायरेक्टर को बुके और चॉकलेट देकर हक किया। साथ ही फिल्म में लेने के लिए धन्यवाद कहा।

- टिस्का ने कहा, "मेरा ऐसा व्यवहार देखकर वह हैरान रह गया था। वैसे, रूम में जाने से पहले टिस्का ने थोड़ी चाकाली दिखाई थी और अपने सभी कॉल्स उस डायरेक्टर के रूम पर ट्रांसफर कर दिए थे। ऐसे में कुछ ही देर ठहरने के बाद रूम का फोन बजा। वह कॉल डायरेक्टर के बेटे का था, जो उन्हें टीम के साथ डिनर के लिए बुला रहा था।

- बकौल टिस्का, "उसका बेटा मुझ से पूछ रहा था डिनर के लिए बाहर चलने के लिए जैसा की क्रू ने पहले से प्रोग्राम बनाया था तो मैंने उससे कहा कि मैं सर के रूम में हूं और स्टोरी पर बातचीत कर रही हूं। इसके बाद मैंने पूछा सर 10 मिनट लगेंगे …15 मिनट काफी रहेंगे। इसके बाद पांच से छह कॉल आ गए और उसके बाद उसका फितूर उतर गया। हमने फिल्म पूरी की और वापस आ गए।"