तिरुपति बालाजी पर भी नोटबंदी का असर, महंगे होंगे दर्शन

तिरुपति  (18 फरवरी): नोटबंदी के असर से देश का सबसे अमीर मंदिर भी अछूता नहीं है। अब तिरुपति में बालाजी के दर्शन महंगे हो सकते हैं। मंदिर कमेटी तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (TTD) ने कहा है कि वो मंदिर में टिकट और अन्य सेवाओं के दाम बढ़ाने पर गौर कर रही है।

दरअसल नोटबंदी के बाद मंदिर के रोजाना चढ़ावे में कमी दर्ज की गई है। मंदिर के रख-रखाव से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक मोदी सरकार के इस फैसले से पहले TTD की एक दिन की आमदनी करीब 5 करोड़ रुपये थी। इसमें बैंकों में जमा रकम पर मिलने वाला ब्याज भी शामिल है। लेकिन नवंबर महीने के बाद रोजाना आय में 1 से 2 करोड़ की कमी आई है। TTD के चेयरमैन सी कृष्णमूर्ति के मुताबिक आमदनी में कमी को पूरा करने के लिए अब टिकटों के दाम में कुछ इजाफा किया जा सकता है। हालांकि बढ़ोत्तरी के लिए राज्य सरकार की मंजूरी जरुरी है। कुछ समय पहले मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने ऐसे ही एक प्रस्ताव को ठुकरा दिया था।

मंदिर कमेटी 'हुंडी' के चढ़ावे के अलावा टिकट और प्रसाद बेचकर भी पैसा कमाती है। इन टिकटों के दाम 50 रुपये से लेकर 500 रुपये तक होते हैं। ज्यादातर श्रद्धालु दर्शन के लिए 300 रुपये का टिकट खरीदते हैं। लेकिन दर्शन का वीआईपी टिकट 500 रुपये में बिकता है। मंदिर कमेटी के अधिकारियों के मुताबिक टिकट के रेट में 5 से 10 रुपये का इजाफा घाटे को पूरा करने के लिए काफी होगा।