हर यूनिवर्सिटी में जरूरी होगा तिरंगा लहराना, बताया यह कारण...

श्रीवत्सन, जयपुर (21 जुलाई): जेएनयू और हैदराबाद यूनिवर्सिटी में कथित राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के होने की खबर के बाद राजस्थान के राज्यपाल और कुलापति ने सभी यूनिवर्सिटी में हर रोज तिरंगा झंडा फहराने का निर्देश जारी कर दिया है। इसका मकसद यह है कि जब भी छात्र यूनिवर्सिटी केम्पस में प्रवेश करें तो उनमें देश प्रेम की भावना झलके।

बाकायदा तीन महीनों में इस आदेश के तामिल का निर्देश जारी करने को कहा गया है। यही नहीं स्वामी विवेकानद की प्रतिमा लगाने का भी इन यूनिवर्सिटियों को निर्देश जारी किया गया है।

क्यों लिया गया फैसला: - राज्यपाल को भी लगता हैं कि यूनिवर्सिटी में गर्म खून वाले अलग-अलग विचारधारा के छात्र हैं। - इनमें से कुछ के विचार तनाव वाले साबित हो रहे हैं। - छात्र जैसे ही केम्पस में प्रवेश करें तो इन्हें देखकर उनमें राष्ट्रप्रेम की भावना नज़र आए। - इससे केम्पस में होने वाले तनाव को काफी हद तक कम करने में सहायता मिलेगी। - इसका असर छात्रों की मानसिकता पर नज़र आएगा।

जाहिर है कि तिरंगे के जरिए सरकारी भले ही राष्ट्रप्रेम की भावना के अपने तर्क को सही साबित कर दे, लेकिन स्वामी वि‍वेकानंद की प्रतिमा की स्थापना स्कूलों के बाद उच्च शिक्षा के भगवाकरण के आरोपों को भी हवा देगी।