'तिब्बत को आजा़दी नहीं वास्तविक स्वायत्ता चाहिए'

नई दिल्ली (16 जून): तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने कहा कि वो चीन से तिब्बत की आजा़दी ने नहीं बल्कि वास्तविक स्वायत्ता की मांग कर रहे हैं। व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के ये बयान दलाई लामा की ओर से आया है। अमेरिकी राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने भी नोबेल पुरस्कार विजेता दोनों नेताओं की मुलाकात को रेखांकित करते हुए कहा कि इस मुलाकात से तिब्बत पर अमेरिका के रूख में कोई बदलाव नहीं आया है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह चौथा ऐसा मौका है जब राष्ट्रपति ओबामा ने आठ साल के कार्यकाल में व्हाइट हाउस में दलाई लामा से मुलाकात की है। अर्नेस्ट ने कहा, और हम एक बार फिर यह दोहराना चाहते हैं कि तिब्बत को लेकर अमेरिका के रूख में कोई बदलाव नहीं आया है। ओबामा ने 80 वर्षीय आध्यात्मिक नेता से व्हाइट हाउस के ऐतिहासिक मैप रूप में मुलाकात की। मैप रूम की बैठक से इस बैठक से मीडियाकर्मियों को दूर रखा गया था। ओबमा और दलाई लामा की मुलाकात पर चीनी प्रतिरोध को व्हाइट हाउस ने सिरे से खारिज कर दिया।