कोलकाता पुलिस ने अलकायदा आतंकियों समेत 3 को किया गिरफ्तार

कोलकता (22 नई दिल्ली): कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सेंट्रल आईबी की सूचना पर कोलकाता रेलवे स्टेशन के पास से अलकायदा के दो आतंकियों व उन्हें हथियार व विस्फोटक की आपूर्ति करने वाले एक तस्कर को गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ के पुलिस आयुक्त मुरलीधर शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आतंकियों के नाम शमशाद मियां उर्फ तनवीर उर्फ तुषार विश्वास (26), रिजाउल इस्लाम उर्फ रियाज उर्फ सुमन (25) और मंतोष मंडल उर्फ मोनादा (46) है। शमशाद बांग्लादेश के खुलना जिले के पाइकगछा थाना और रियाज बांग्लादेश के सुनामगंज जिले के सिलेट के छातक थाने क्षेत्र का वाशिंदा है।

हथियार तस्कर मंतोष उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट का रहने वाला है। मंतोष से हथियारों का सैंपल देखने के बहाने एसटीएफ की टीम ने मंगलवार दोपहर तीनों को धर दबोचा। दोनों आतंकी भारत में अलकायदा मॉड्यूल के लिए काम करने वाले बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकी संगठन 'अंसार बांग्ला' से जुड़े हैं, जो अलकायदा का अभिन्न अंग है।

'अंसार बांग्ला' संगठन बांग्लादेश में प्रतिबंधित है। बांग्लादेश में जितने भी ब्लॉगरों की हत्या हुई, उसे 'अंसार बांग्ला' ने ही अंजाम दिया था। ये दोनों आतंकी करीब डेढ़ वर्षों से भारत में रह रहे थे। इन लोगों के पास से एक 9एमएम पिस्तौल, एक कट्टा, गोली, लैपटॉप, बम तैयार करने के तरीका बताने, अलकायदा के भाषणों व रेकी की जानकारी देने वाली किताबें मिली हैं।

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि तीनों से पूछताछ की जा रही है और बुधवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। यह पहला मौका है जब कोलकाता से अलकायदा के आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है। इससे पहले जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश और इस्लामिक स्टेट (आइएस) के आतंकियों की भी गिरफ्तारी हो चुकी है।

दो महीने से तलाश रही थी पुलिस-

शर्मा ने बताया कि दुर्गापूजा के समय सेंट्रल आईबी से सूचना मिलने के बाद एसटीएफ लगातार दो महीने से इनकी तलाश में विशेष अभियान चला रहा था। कोलकाता व आसपास के जिलों के सभी होटलों को खंगाला गया था। सीमा से भी इनपुट लिया जा रहा था। इनके बारे में जानकारी मिली थी कि वे सार्वजनिक स्थानों पर छिपकर समय काट रहे थे। पता चला है कि ये तीनों पटना, रांची समेत कई शहरों का दौरा कर चुके हैं।