आधार को मोबाइल से जोड़ने के ये है 3 आसान तरीके

नई दिल्ली (15 नवंबर) : सरकार ने हाल ही में 12 अंकों की आधार संख्या को मोबाइल नंबर से जोड़ने के लिए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) समेत तीन नए तरीके पेश किए हैं। इसके माध्यम से आधार को अपने व्यक्तिगत नंबर से जोड़ने की प्रक्रिया बहुत ही आसान हो गई है। 

मोबाइल नंबर को आधार के साथ लिंक करने की अंतिम तारीख 6 फरवरी 2018 है। चलिए हम यहां समझते हैं कि लोग किन-किन तरीकों से और कैसे अपने मोबाइल को आधार से जोड़ सकते हैं:

वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी)

सरकार ने टेलीकॉम ऑपरेटर्स से कहा है कि वह ऐसे ग्राहकों को ओटीपी भेजे जिनके मोबाइल नंबर पहले ही आधार नंबर के साथ रजिस्टर्ड हो चुके हैं। इस तरीके का इस्‍तेमाल सब्‍सक्राइबर्स द्वारा किए जा रहे अन्‍य मोबाइल नंबर का रि-वेरीफि‍केशन करने में किया जा सकता है। वेबसाइट और मोबाइल एप के जरिये मोबाइल नंबर को ई-वेरीफाई करने में ओटीपी मदद करेगा।

एजेंट-असिस्टेड ऑथेंटीकेशन 

प्रक्रिया को और अधिक सुरक्षित बनाने के लिए टेलीकॉम ऑपरेटर्स से कहा गया है कि वह एजेंट्स को उपभोक्ताओं की पूरी ई-केवायसी की जानकारी का खुलासा न करें। एजेंट ऑथेंटीकेशन सुविधा का इस्‍तेमाल सिम रि-वेरीफि‍केशन के साथ ही साथ इसे जारी करने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा आधार डाटा को एजेंट के डिवाइस में ज्‍यादा देर तक स्‍टोर करके नहीं रखा जा सकता है। 

इंटेरेक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम (आईवीआरएस)

इंटेरेक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम का इस्‍तेमाल वेरीफि‍केशन के लिया किया जा सकता है। इसको विशेषतौर पर तैयार एप की मदद से किया जा जाएगा।