लीबिया में ऑयल कंपनी ने 3 भारतीयों को बनाया बंधक

नई दिल्ली(2 अगस्त): तीन महीने पहले नौकरी के लिए लीबिया गए लुधियाना के तीन युवकों को वहां एक ऑयल कंपनी में बंधक बना लिया गया है। तीनों के पासपोर्ट छीन लिए गए हैं और मारपीट कर काम करवाया जा रहा है। एरिया भाषा की जानकारी होने के कारण वे पुलिस से भी संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। 

सर्बजीत की पत्नी मनप्रीत और टीटू बंसल मलकीत सिंह के घरवालों ने उन्हें वापस लाने के लिए विदेश मंत्रालय से गुहार लगाई है।

वेल्डिंग का काम करने लीबिया गए थे तीनों...

- लुधियाना के सर्बजीत सिंह, टीटू बंसल और मलकीत सिंह एक ट्रैवल एजेंट के जरिए 28 अप्रैल, 2016 को लीबिया की अलबराज आॅयल कंपनी में वेल्डिंग का काम करने गए थे। - करीब एक महीने के बाद उन्हें समझ आया कि कंपनी वाले उनसे काम ज्यादा करवा रहे थे, लेकिन उन्हें पूरे पैसे नहीं दिए जा रहे थे। उनके साथ मारपीट भी की जा रही थी। - जब उन्होंने विरोध शुरू किया तो कंपनी के लोगों ने उनके पासपोर्ट छीनकर उन्हें बंधक बना लिया।

व्हाट्सएप की जरिये बयान की दास्तां, बचाने की लगाई गुहार

- हाल ही में उन्होंने किसी व्यक्ति के मोबाइल फोन के जरिए अपने साथ हो रहे अमानवीय व्यवहार का वीडियो बनाकर घरवालों को व्हाॅट्सएप कर बचाने के लिए कहा है। -सर्बजीत की पत्नी मनप्रीत और टीटू बंसल मलकीत सिंह के घरवालों ने विदेश मंत्रालय से गुहार लगाई है। - उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपील की है कि वे लीबिया सरकार से संपर्क कर तीनों युवकों को जल्द से जल्द छुड़ाया जाए, ताकि उन्हें बचाया जा सके, क्योंकि युवकों ने व्हाट्सएपप भेजे मैसेज में कहा है कि उन्हें वहां जान का खतरा है।