नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 6 मई ): दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने देश भर के बेरोजगार युवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह भंडाफोड़ किया है। साथ क्राइम ब्रांच ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन्होंने बेरोजगार युवकों को कॉल करने के लिए लक्ष्मी नगर में कॉल सेंटर बनाया हुआ था। यहीं से युवकों को अलग-अलग तरह से अकाउंट में पैसे जमा कराने के लिए कहा जाता था। पुलिस ने इनके कब्जे से पांच कंप्यूटर, हार्डडिस्क, लैपटॉप समेत ठगी करने में इस्तेमाल होने वाली तमाम एसेसरीज बरामद की है।


डीसीपी रामगोपाल नाइक ने बताया कि भुवनेश्वर की रहने वाली लड़की एम.कॉम. फाइनल ईयर की स्टूडेंट हैं। उन्होंने जॉब के लिए मॉन्स्टर डॉट कॉम में अपनी सीवी डाली थी। 18 फरवरी 2017 को उनके पास एक कॉल आई। एक ऑनलाइन साइट पर उन्हें जॉब के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहा गया। रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर सबसे पहले उन्हें 2300 रुपये साइट के अकाउंट में जमा कराने के लिए कहा गया। इसके लिए उन्हें लक्ष्मी नगर स्थित एसबीआई ब्रांच का अकाउंट नंबर दिया गया।


उन्होंने यह रकम जमा करा दी। कुछ समय बाद इंटरव्यू फीस के रूप में 6500 रुपये दोबारा उसी अकाउंट में जमा कराने के लिए कहा गया। पीड़ित स्टूडेंट को कुछ शक हुआ। उन्होंने न केवल यह रकम जमा कराने से इनकार कर दिया, बल्कि अपना रजिस्ट्रेशन कैंसल कराने के लिए भी कह दिया। उन्होंने अपनी रजिस्ट्रेशन फीस भी वापस मांगी। उन्हें दो महीने बाद रजिस्ट्रेशन फीस लौटाने के लिए कहा गया। उन्होंने इसकी लिखित शिकायत कर दी। क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी।


क्राइम ब्रांच के एसीपी आनंद कुमार मिश्रा के नेतृत्व में बनाई गई टीम ने इनके पास से बड़ी मात्रा में इलेक्ट्रोनिक एसेसरीज व चेकबुक आदि बरामद किया है। पुलिस उपायुक्त मधुर वर्मा के अनुसार आरोपियों ने मॉन्स्टर डॉटकॉम नाम से वेबसाइट भी बना रखी थी। इस पर ये पहले लोगों से रजिस्ट्रेशन कराने को कहते थे फिर इसके एवज में उनसे मोटी रकम वसूलते थे। बाद में जब पीड़ित को नौकरी नहीं मिलती और वह अपने पैसे मांगता तो ये अपने मोबाइल भी बंद कर लेते थे।