News

फेसबुक यूजर्स के लिए बुरी खबर, बेचे जा रहे हैं आपके पर्सनल मेसेज !

साल 2018 फेसबुक के लिए काफी खराब साल रहा है और इस साल कई बार डेटा लीक के मामले सामने आए हैं। बीबीसी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि हैकर्स ने फेसबुक के 81 हजार यूजर के अकाउंट हैक कर डेटा चुरा लिए। एक यूजर की पर्सनल डिटेल 10 सेंट (6.50 रुपए) में बेची जा रही है। बीबीसी के मुताबिक, डेटा को बिक्री के लिए जिस वेबसाइट पर पब्लिश किया गया है, उसका डोमेन रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में बताया जा रहा है।

                                                                                         Photo: Google   

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 3 नवंबर ): साल 2018 फेसबुक के लिए काफी खराब साल रहा है और इस साल कई बार डेटा लीक के मामले सामने आए हैं।  बीबीसी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि हैकर्स ने फेसबुक के 81 हजार यूजर के अकाउंट हैक कर डेटा चुरा लिए। एक यूजर की पर्सनल डिटेल 10 सेंट (6.50 रुपए) में बेची जा रही है। बीबीसी के मुताबिक, डेटा को बिक्री के लिए जिस वेबसाइट पर पब्लिश किया गया है, उसका डोमेन रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में बताया जा रहा है। 

यह मामला इस साल सितंबर में उस वक्त संज्ञान में आया जब FBSaler नाम के एक यूज़र ने इंटरनेट फोरम पर जानकारी दी कि वे करीब 120 मिलियन (12 करोड़) अकाउंट्स को बेच रहे हैं। हालांकि जब साइबर सिक्यॉरिटी फर्म डिजिटल शैडोज़ ने इस केस की जांच-पड़ताल की तो सामने आया कि 81 हजार अकाउंट्स को उनके प्राइवेट मेसेजेस के साथ बेचा जा रहा था।   

बीबीसी की रूसी सर्विस ने इसकी पुष्टि के लिए पांच ऐसे फेसबुक मेंबर्स से संपर्क किया जिनके प्राइवेट मेसेजेस बेचे जा रहे थे। सामने आया कि बेचे जा रहे मेसेजेस उन्हीं के हैं। इन मेसेजेस में न सिर्फ टेक्स्ट था बल्कि कुछ फोटोज़ भी शामिल थीं। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि यूज़र्स के निजी मैसेजेस मैलवेयर वेबसाइट्स और ब्राउज़र एक्सटेंशन्स से लिए गए होंगे। जिन यूजर्स के अकाउंट और मेसेजेस को बेचा जा रहा है, उनमें से ज़्यादातर यूजर्स यूक्रेन और रूस के अलावा, यूके, अमेरिका, ब्राज़ील और अन्य हिस्सों से हैं।  

इस रिपोर्ट के अनुसार, हैकर्स इन्हें प्रति अकाउंट 10 सेंट यानी 6 रुपये 50 पैसे में बेच रहे थे और जिस वेबसाइट पर बिक्री के लिए डेटा को पब्लिश किया गया था वह सेंट पीटर्सबर्ग में स्थापित बताई जा रही है।  

इस पूरे मामले पर सफाई देते हुए फेसबुक ने किसी भी तरह के अकाउंट हैक से इनकार किया और कहा कि जो भी लीक हुआ उसमें उसकी कोई गलती नहीं है। फेसबुक के एग्जिक्युटिव गाय रोजन ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि उन्होंने ब्राउज़र एक्सटेंशन के निर्माताओं से बातचीत कर यह सुनिश्चित करने की कोशिश की है कि उनकी स्टोरीज़ में किसी भी तरह के मैलवेयर एक्सटेंशन्स डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं होने चाहिए।  


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top