4 सालों से गुजरात के 'दांडी बीच' की सफाई के लिए खून पसीना बहा रहा है ये शख्स

नई दिल्ली (26 अप्रैल): गुजरात के दक्षिण में सभी समुद्र तटों में से सबसे साफ नवसारी में एतिहासिक गांव दांडी का बीच है। यह काफी साफ सुथरा, सुन्दर और शांतिपूर्ण है। इस साफ सफाई के लिए एक शख्स के प्रयास जिम्मेदार हैं। 40 वर्षीय यह शख्स खादी पहनता है और पिछले 4 सालों से इसकी साफ सफाई के मिशन में लगा हुआ है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, इनका नाम कालू डांगर है। कालू विनय मंदिर स्कूल हॉस्टल के पास अपने घर से सुबह साढ़े 6 बजे निकलते हैं। उनके हाथ में कूड़ा इकट्ठा करने वाला एक बड़ा सा बैग रहता है।

कालू दांडी सागर के आगे 3 वर्ग किलोमीटर का इलाका कवर करते हैं और इसमें से यात्रियों के फेंके कूड़े कचड़े को उठाते हैं। इस कठोर अभ्यास के बाद वह सुबह ही दांडी चौपाटी पर मुख्य प्रवेश और गार्डन को साफ करने के लिए आते हैं। इसके बाद वह यात्रियों के लिए 2,000 लीटर के पानी के टैंक को भी भऱते हैं।

कालू कहते हैं, "मैं हमेशा यात्रियों से कचड़े को कूड़ेदान में फेंकने के लिए कहता हूं। वे मेरी अपील नहीं मानते। बीच पर ही फेंकते हैं।" कालू हर महीने बीच के हर दुकानदार से वेलफेयर एक्टिविटीज़ के लिए 100 रुपए इकट्ठा करते हैं।