राष्ट्रपति शासन लगाने पर कांग्रेस बोली, डेमोक्रेसी का मर्डर हुआ

नई दिल्ली (27 मार्च): उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लागू करने के बाद सीएम हरीश रावत ने बीजेपी पर निशाना साधा। इसी के साथ उन्होंने बीजेपी धमकी देने और हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया था।

रावत ने आरोप लगाया, 'बीजेपी लगातार धमकी दे रही है। एक छोटे से सीमांत राज्य में प्रेसिडेंट रूल लगाने की बात कही जा रही है। मैं इसे लोकतंत्र और संविधान की हत्या के रूप में देखता हूं। केंद्र में सत्तारूढ़ दल ने उत्तराखंड में दल-बदल करवाया। मैं राज्य की जनता से अपील करना चाहता हूं कि वे इन सब बातों को देखें। अगर कोई धमकी देता है तो ये धमकी अर्थपूर्ण हो जाती है।'

रावत ने कहा कि बीजेपी सरकार बदलना चाहती है। यानी आप जनता नहीं पैसे पर विश्वास कर रहे हैं। आप धनबल से राज्य की राजनीति को प्रभावित करेंगे। इसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। राज्य के हर इंस्टीट्यूशंस को रन डाउन किया जा रहा है। जिस कथित स्टिंग को क्रेडिबिलिटी बताया जा रहा है, मैं बताना चाहता हूं कि 50 साल उत्तराखंड की खाक छानी है।' उन्होंने कहा कि करोड़ों लोगों से संवाद किया है। 24-25 साल से लेजिस्लेचर में जनता की आवाज उठाता रहा हूं। एक स्टिंग से मेरी छवि वो लोग खराब कर रहे हैं जिनपर खुद धोखाधड़ी का आरोप लगा है।'

सीएम ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो किस तरह के लोग हैं, उनका भी डीएनए जांचने की जरूरत है। मेरा डीएनए, लोगों का डीएनए है। उसे दूसरों की तरह इम्पोर्ट नहीं किया गया है। इस मामले को लेकर हम जनता तक जाएंगे। गवर्नर को हटाने की मांग को किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता।