शक्ति पाने के लिए समाधि लेने जा रही थी लड़की

केजे श्रीवत्सन, जालोर (15 अप्रैल): राजस्थान के जालोर में एक लड़की देवी की शक्ति पाने के लिए समाधि लेने की तैयारी में थी। ऐसा हो पाता उससे पहले ही पुलिस जा पहुंची, उसके बाद शुरू हुआ अंधविश्वास का लबालब एक बड़ा ड्रामा।

मामला राजस्थान में जालोर गांव के धनवाड़ा गांव का है। आरोप है कि ऐवन कुमारी नाम की महिला समाधि लेने वाली थी लेकिन पुलिस ने इसे पहले ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक धनवाड़ा गांव की महिला नवरात्र के व्रत कर रही थी। इसने चार से दिन से न कुछ खाया था और न ही पानी पिया। भूखे रहने की वजह से इसकी हालत खराब हो रही थी।

गांववालों ने इसे देवी का अवतार माना और इसकी पूजा शूरू कर दी। पुलिस जब गांव में पहुंची तो यहां का नजारा देखकर हैरान रह गई। गांव में इस महिला के दर्शन के लिए भीड़ लगी थी और ये खुद भी देवी होने का दावा कर रही थी। पुलिस ने समाधि लेने के डर से इस महिला को पहले ही हिरासत में ले लिया और अस्पताल में भर्ती कराया।

इलाज के बाद इस महिला की हालत अब सही बताई जा रही है। पुलिस ने महिला के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है, लेकिन जिस तरह महिला ने खुद को देवी बताया और गांववालों ने इसकी पूजा भी शुरू कर दी वो फिर वही सवाल उठाती है कि अंधी आस्था कब खत्म होगी।

देखें पूरी रिपोर्ट:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=jUTu4PJCr-g[/embed]