गूगल ने पेश किया नया फीचर, फोन को फर्जी ऐप से बचाएगा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 24 अक्टूबर ): गूगल ने एक नया फीचर पेश किया है और आपको फेक ऐप्स को पहचानने में मदद करेगा। गूगल ने एंड्रॉयड यूजर्स के फोन की सुरक्षा के लिए एक ऐसा फीचर शुरु किया है, जो पियर-टू-पियर फाइल शेयरिंग प्‍लेटफॉर्म जैसे शेयरइट या एक्‍सेंडर द्वारा यूजर्स के बीच साझा किए जाने वाले हर ऐप को वेरीफाई करेगा।दरअसल कई बार यूजर्स इंटरनेट डेटा बचाने के चक्कर में फेक ऐप डाउनलोड कर बैठते हैं। फिर ये फेक ऐप कई बार यूजर्स के लिए परेशानी का कारण बन जाते हैं। स्मार्टफोन यूजर्स की इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए गूगल एक ऐसा फीचर लाया है जिससे यूजर्स फेक ऐप की पहचान कर सकेंगे।गूगल का यह फीचर ऑफलाइन भी काम करेगा। इसका फायदा यह है कि जैसे ही आप कोई ऐप डाउनलोड करते हैं, गूगल प्ले उस ऐप को तुरंत वेरिफाई कर देगा। यह फीचर गूगल के खुद के शेयरिंग ऐप, फाइल गो और एक्जेंडर पर भी उपलब्ध है। इसकी मदद से यूजर्स खुद को ऑफलाइन डिस्ट्रीब्यूशन चैनल डिवेलपर के रूप में भी विकसित कर सकते हैं।गूगल के इस नए फीचर के आ जाने के बाद अगर यूजर शेयरइट, फाइल हो या Xender से कोई भी फेक ऐप डाउनलोड करते हैं तो यूजर को अनसेफ का नोटिफिकेशन मिलने लगेगा। इस तरह से यूजर को अलर्ट कर देगा।ऐंड्रॉयड यूजर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गूगल ने हाल ही में Intra नाम का एक और साइबर सिक्यॉरिटी ऐप भी लॉन्च किया है। इसकी मदद से यूजर्स डीएनएस के अटैक से बच सकते हैं। ऐसा दावा किया जाता है कि यह ऐप यूजर्स के इटंरनेट की स्पीड को बिना धीमा किए मैलवेयर और धोखाधड़ी से बचाने में मदद करता है।