12 साल की उम्र में पास की 12वीं, 10 साल की उम्र में की थी 10वीं

नई दिल्ली (17 मई): कहते हैं अगर हौसलों में दम हो तो आपको ऊंची उड़ान भरने से कोई नहीं रोक सकता। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है जयपुर के आभास शर्मा ने, जिसने 12 साल की उम्र में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आयोजित 12वीं बोर्ड परीक्षा पास करने में सफलता हासिल की है।  

सोमवार को जारी हुए रिज़ल्ट में आभास को कुल 600 अंकों में से 325 अंक प्राप्त हुए हैं। बोर्ड परीक्षा में फर्स्ट डिवीज़न में पास होने का यह कारनामा करने वाले आभास के घर ख़ुशी का माहौल है। परिवार के लोग ही नहीं बल्कि पड़ोस में रहने वाले और उसके शुभचिंतक भी उसे बधाई देने पहुंच रहे हैं। आभास के इस कमाल से जहां ख़ुशी का माहौल है वहीं लोग यह सोचकर हैरान है कि आखिर आभास ने यह चौंकाने वाला कारनामा आखिर कैसे कर दिखाया।  

आभास ने इससे पहले महज़ 10 साल की उम्र में 10वीं बोर्ड में पास होकर दिखाया था। आभास ने 61 फ़ीसदी अंकों के साथ 10 वीं परीक्षा पास की थी। लगातार इस तरह के कारनामे कर सभी को चौंकाने वाला आभास अब किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं है। आभास ने कहा, ''बोर्ड परीक्षा पास करने के लिए मेरे ऊपर किसी तरह का दबाव नहीं था। मैं सामान्य तौर पर खेलने के साथ ही पढ़ाई कर रहा था। मैंने प्रेप क्लास नहीं की है। मैंने फर्स्ट क्लास से स्कूलिंग शुरू की, इसके बाद मैंने एक या दो प्राइमरी क्लास जम्प की।''

अपनी इस उपलब्धि को बताते हुए आभास अपने परिवार और स्कूल टीचर्स को श्रेय देना भी नहीं भूल रहा है। आभास के मुताबिक़ उसके परिजन और टीचर्स का उसे पूरे एक्ज़ाम में मार्ग दर्शन मिला है। आभास का कहना है कि वो परीक्षा से पहले सिर्फ एक ही दिन पढ़ाई करता है। उसने कहा कि 12 वीं क्लास में पास होने का उसे पूरा विश्‍वास था। आभास बड़े होकर डॉक्टर बनना चाहता है ताकि वो देश की सेवा कर सके। हालांकि आभास को एक मलाल इस बात का है कि वो इस उम्र में पीएमटी की परीक्षा नहीं दे सकता है। नियमों के मुताबिक़ पीएमटी के लिए अभ्यर्थी के लिए उम्र की बाध्यता 17 साल है।