21 करोड़ रुपए है इस भैंसे की कीमत, जानिए इसकी खासियत


विशाल अंग्रीस, हरियाणा (24 दिसंबर): 21 करोड़ का सरताज 36 वें पषुधन मेले का सरताज बन गया है। मुर्राह नस्त का सरताज सोनीपत के सैनीपुरा गांव के विरेन्द्र सिंह का है। सरताज ने मेले के आकर्शण रहे रूस्तम को हराकर सभी भैसों में पहला स्थान हासिल किया है। हालांकि मुर्राह भ्रीड में सरताज से आगे पानीपत के नरेन्द्र की मुर्राह नस्ल की भैंस आगे रही। भैंसो में पहले स्थान पर आने वाले सरताज को देखने वालों की भारी भीड भी उमड़ी रही। 




सरताज के मालिक विरेन्द्र ने बताया कि सरताज की उम्र करीब चार साल है और वो उस हर रोज करीब 10 किलो दूध और दही के सेवन भी हर रोज कराता है। विरेन्द्र ने मुर्राह नस्ल की बेहतर ब्रीड तैयार करने का काम साल 2007 से षुरू किया था।विरेन्द्र ने करनाल में लगे प्षुधन प्रर्दषनी मेले से ही मुर्राह नस्ल की बेहतर ब्रीड तैयार करने की सीख ली थी। विरेन्द्र सिंह अब हर महीने सरताज का सीमन बेचकर लाखों रूप्ये भी कमा रहा है। विरेन्द्र का कहना है कि वैसे तो वो सरताज को बेचना नही चाहता क्योंकि उसके लिये सरताज अनमोल है लेकिन अगर कोई 21 करोड़ देगा तो वो अपना सरताज उसको सौंप देगा।



36 वें पषुधन प्रर्दषनी मेले की षुरूवात 21 दिसम्बर को हुई थी। हरियाणा के कृशि एंव किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाष धनखड़ ने हरियाणा मे प्षुधन की उत्तम नस्ल और दुध उत्पादन को बढ़ावा देने क े लिये दूसरी बार झजजर में प्षुधन मेले का आयोजन करवाया। प्षुधन मेले के तीनों दिन दर्षकों के लिये पहले ईनाम के तौर पर मोटरसाईकिल और दूसरे स्थान पर आने वाले को दूध निकालने की मषीन भी ईनाम के तौर पर दी गई। प्षुधन मेले में  झज्जर के जीवन सिंह की एच एफ नस्ल की गाय को पहला स्थान वहीं साहीवाल ब्रीड में करनाल के राम सिंह की गाय ब्रीउ चैम्पियन बनी है। 



रोहतक के दलबीर सिंह का साहीवाल बैल ब्रीड चैम्पियन का रनर अप रहा। क्राॅस ब्रीड में करनाल की गाय चैम्पियन बनी है। प्षुधन मेले के समापन पर आई भारी भीड ने जय जवान जय किसान के नारे लगाकर मेले की सफलता के लिये कृशि मंत्री का हौसला भी बढ़ाया।