पटना बलास्ट से लेकर धर्म परिवर्तन तक, ये हैं जाकिर नाइक पर 5 खुलासे

नई दिल्ली (9 जुलाई): इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के जाकिर नाईक के भाषणों की जांच तो चल ही रही है। उनकी पीसी टीवी दिखाने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। इस बीच जाकिर नाईक को लेकर रोजाना हो रहे खुलासे चौंकाने वाले हैं।

पहला खुलासा.... > जाकिर का चेला आतंकी राहिल अब्दुल रहमान शेख > भारत से भागकर पाक में छिपा है राहिल अब्दुल रहमान > दिल्ली से फरार हुआ था आतंकी राहिल अब्दुल रहमान    दूसरा खुलासा... औरंगबाद आर्म्स हौल केस में आरोपी फिरोज देशमुख ज़ाकिर की नाईक इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन की लाइब्रेरी में काम करता था। सूत्रों का कहना है कि फिरोज देशमुख का ही दोस्त राहिल शेख है।

तीसरा खुलासा... कल्याण से आईएसआईएस ज्वाइन करने वाले 4 युवकों का डॉ ज़ाकिर नाईक से कन्नेक्शन सामने आया है। कल्याण से आईएस ज्वाइन करने वाले ये सभी युवक कल्याण के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन में जाते थे। वहां मुफ्त में अपनी सेवा भी देते थे। आईआरएफ का छोटा सा दफ्तर मोहसिन खान चलाता था  एनआईए को आरिब मजीद ने बताया है की वो शुरू में ज़ाकिर नाईक की इस्लाम की किताबें पढ़ने और तकरीर सुनने से प्रभावित हुआ था।

चौथा खुलासा... पटना और बोध गय़ा ब्लास्ट में भी गिरफ्तार आतंकी जाकिर नायक से प्रभावित थे और इनके पास से सीडी, किताबें, पोस्टर मिले थे।

पांचवां खुलासा जाकिर धर्म परिवर्तन के मामले में भी आरोपी हैं और 2008 में इसकी रिपोर्ट मुंबई पुलिस ने केन्द्र और राज्य सरकार को भेजी थी।