पहले की करोड़ों की चोरी, फिर पाप धोने के लिए बना रहे थे चारधाम की योजना

इंद्रजीत सिंह, मुंबई (22 अप्रैल): फॉरेन एक्सचेंज यानी नकदी बदलने वाली कंपनी को लूटकर डेढ़ करोड़ विदेशी करेंसी लेकर फरार 3 चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ये सभी चोर चोरी के पैसे से कार खरीदकर चारधाम की यात्रा की योजना बना रहे थे, जिससे वो अपने चोरी के पापों को धो सके।


23 साल का भगवान सिंह वाघेला कई वर्षो से मुंबई के विलेपार्ले में स्थित नकदी बदलने की कंपनी मांगलिक फोरेक्स एक्सचेंज में बतौर नौकर काम करता था। मुंबई में नौकरी ढूढ़ने आए उसके दोस्त जसवंत सिंह के साथ मिलकर एक साजिश। जब भगवान सिंह वाघेला करीब डेढ़ करोड़ विदेशी नकदी की डिलीवरी लेने अंधेरी के वीकेसी फोरेक्स एक्सचेंज कंपनी पहुंचा तो वहां से विदेशी करेंसी लेकर उसके दोस्त जसवंत सिंह के साथ फरार हो गए।


तीसरे आरोपी गौतम लखानी के नाम पर चोरी के पैसे से कार लेकर उसे भी गैंग में शामिल कर लिया। यह तीनों ने गुजरात, पंजाब और राजस्थान के चक्कर लगाते रहे। विदेशी करेंसी को बदलने के लिए उन्हें मुंबई आना ही था, बस मौका देखकर पुलिस ने इन्हे धर दबोचा। चोरी के 1 महीने बाद मुंबई पहुंचे चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से 18000 ब्रिटिश पाउंड, 97800 अमेरिकी डॉलर, 3,3800000 इंडोनेसिया रुपया और चोरी के पैसे से खरीदी गई स्कॉर्पियों को जब्त कर लिया है। अभी भी करीब 52 लाख रुपए की बरामदगी बाकी है। स्कॉर्पियों कार से यह देशभर घूमकर चार धाम की यात्रा की योजना बना रहे थे। इनका मानना था कि दर्शन कर यह चोरी के पाप धो लेंगे।


इन आरोपियों पर पुराना कोई आपराधिक मामला नहीं है। पुलिस ने इन आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां इन्हें 23 अप्रैल तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।