Blog single photo

अपनी जिम्मेदारी समझे ऋषभ पंत नहीं तो खामियाजा भुगतना पड़ेगा: रवि शास्त्री

शास्त्री ने सीधे तौर पर कुछ कहने से बचते हुए कहा कि इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ने भारत के वेस्ट इंडीज दौरे पर निराश किया। वह एक एकदिवसीय मुकाबले में पहली गेंद पर आउट हो गए थे मुख्य कोच ने कहा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(16 सितंबर):  धर्मशाला में खेला जाने वाला पहला टी-20 मैच बारिश के कारण धूल गया। भारतीय टीम अगले साल ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी-20 वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम सही कॉम्विनेशन की तलाश में है। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर ऋषभ पंत वेस्ट इंडीज दौरे पर की गई गलतियों को दोहराते रहेंगे तो उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

शास्त्री ने सीधे तौर पर कुछ कहने से बचते हुए कहा कि इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ने भारत के वेस्ट इंडीज दौरे पर निराश किया। वह एक एकदिवसीय मुकाबले में पहली गेंद पर आउट हो गए थे मुख्य कोच ने कहा, ‘हम इस बार उन्हें छोड़ रहे हैं। वह त्रिनिदाद में पहली गेंद पर जिस तरह का शॉट खेल कर आउट हुए थे अगर इसे दोहराते हैं तो उन्हें इसके बारे में बताया जाएगा। कौशल हो या ना हो आपको इसका खामियाजा भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए।’

 शास्त्री ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘यह बिल्कुल सामान्य है। खुद को निराश करना तो छोड़िए आप टीम को भी निराश कर रहे हैं। जब क्रीज पर आपके साथ कप्तान मौजूद हो और आप लक्ष्य का पीछा कर रहे हो तो आपको समझदारी से क्रिकेट खेलना होता है।’

शास्त्री ने कहा कि पंत की काबिलियत पर कोई सवाल नहीं उठा सकता, लेकिन अगर वह शॉट चयन और सही निर्णय लेने में सुधार करें तो उन्हें रोकना आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा, ‘कोई भी उनके खेलने की शैली में बदलाव लाने के बारे में नहीं सोच रहा। जैसा विराट कोहली ने कहा, मैच की स्थिति के हिसाब से सजग रहना और शॉट-चयन महत्वपूर्ण हो जाता है। अगर उन्होंने इसमें सुधार कर लिया तो उन्हें रोकना आसान नहीं होगा।’

कोच ने कहा, ‘उन्हें यह समझने में एक मैच या फिर चार मैच लग सकते हैं। उन्होंने आईपीएल में ढेर सारे मैच खेले हैं, वह सीखेंगे। अब समय आ गया है कि वह जिम्मेदारी लें और अपनी काबिलियत दिखाए।’ भारतीय कप्तान ने भी इस मौके पर कहा कि वह चाहते हैं कि पंत मैच की स्थिति के हिसाब से खेले। कोहली ने कहा, ‘हम पंत से सिर्फ एक चीज की उम्मीद करते हैं कि वह मैच की स्थिति के हिसाब से खेलें।’ उन्होंने कहा, ‘हम यह नहीं चाहते कि वह अपने हिसाब से खेलें। यह परिस्थितियों को समझने और उससे अपने तरीके से निपटने के बारे में है।’

Tags :

NEXT STORY
Top