यूपी: टोल पर वीवीआइपी या सांसद-विधायकों के लिए अब अलग लेन नहीं होगी

नई दिल्ली ( 24 जुलाई ): उत्तर प्रदेश में सांसद-विधायक भी आम लोगों की तरह ही टोल प्लाजा से गुजरेंगे। उनके लिए वीवीआईपी की तरह किसी अलग लेन का इंतजाम नहीं किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने 15 दिन पुराने अपने फैसले को पलटते हुए यह फरमान जारी किया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों तथा राज्य की प्रमुख सड़कों पर स्थित टोल प्लाजा/टोल कलेक्शन सेंटर पर विशिष्ट महानुभावों के वाहनों के आने-जाने के लिए किसी प्रकार की अलग लेन की व्यवस्था नहीं होगी। 

उन्होंने कहा कि विशिष्ट महानुभावों के वाहनों के आने-जाने के लिए टोल प्लाजा/टोल कलेक्शन सेंटर पर अलग लेन की व्यवस्था करने सम्बन्धी लोक निर्माण विभाग के 13 जुलाई, 2017 के शासनादेश में आवश्यक संशोधन किया गया। सीएम योगी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में वीआईपी संस्कृति को समाप्त करने के लिए कटिबद्ध है। 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की नजर में प्रदेश का हर नागरिक एक समान है। टोल प्लाजा/टोल कलेक्शन सेंटर पर वाहनों के आने-जाने के लिए जो सुविधाएं वर्तमान में सामान्यजन के लिए हैं, वहीं सुविधाएं सभी के लिए एक समान लागू होंगी। 

बता दें कि लोक निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव सदाकांत ने 13 जुलाई को जारी के एक आदेश में कहा कि था कि सभी टोल प्लाजा पर सांसद और विधायकों को गुजरने के लिए अलग से लेन बनाई जाए। वीवीआईपी को यह विशेष सुविधा दिए जाने के बाद सरकार पर चौतरफा हमले शुरू हो गए। सोशल मीडिया से लेकर विपक्षी दलों ने भी इस मुद्दे पर सरकार को घेर लिया।