संसद हमले में अफजल की भूमिका पर संदेह: चिदंबरम

नई दिल्ली (25 फरवरी): कांग्रेस के लिए उसके ही एक नेता नई मुसीबत लेकर सामने आए हैं। इकॉनोमिक्स टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, चिदंबरम ने एक इंटरव्यू में संसद हमले पर हमले के दोषी अफजल गुरू को लेकर बड़ा बयान दे दिया है। उन्होंने कहा है कि 2001 में संसद पर हुए आतंकी हमले में अफजल की भूमिका पर संदेह है। 

उन्होंने कहा कि ऐसे में अफजल की फांसी पर निर्णय ठीक ढंग से नहीं लिया गया। अफजल को बिना पैरोल के उम्रकैद दी जा सकती थी। बता दें कि अफजल को यूपीए सरकार के दौरान फांसी दी गई थी।   

चिदंबरम ने कहा कि सरकार में रहते हुए यह नहीं कहा जा सकता कि कोर्ट ने गलत फैसला किया, क्योंकि केस तो सरकार ने ही चलाया था। लेकिन एक आजाद शख्स यह राय तो रख ही सकता है कि इस केस में सही तरीके से फैसला नहीं लिया गया।

उन्होंने अफजल केस के समय गृह मंत्री नहीं होने की बात भी कही। इस बातचीत में पूर्व गृह मंत्री ने जेएनयू छात्रों पर लगे देशद्रोह के आरोपों को भी बेतुका करार दिया। चिदंबरम के बयान से सियासी तूफान आ गया है।