बिहार की इस लेडी डॉन के बारे में जानकर रह जाएंगे हैरान...

आदित्य/अमिताभ ओझा, पटना (20 जून): उसने जेल में प्यार किया, जेल में ही शादी की, जेल में ही बच्चा हुआ और अब जेल में ही उसकी पूरी उम्र गुजरेगी। कोर्ट ने बिहार की लेडी डॉन पूजा ठाकुर को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। मुजफ्फरपुर जेल में लेडी डॉन को बंद है। बिहार की इस चर्चित लेडी डॉन को 2013 में मुजफ्फरपुर के नीरज कुमार के अपहरण और फिरौती मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बिहार की इस लेडी गैंगस्टर का क्राइम रिकॉर्ड लंबा-चौड़ा है।

पूजा ठाकुर ने अपराध की दुनिया से नाता तभी जोड़ लिया था, जब वो पटना में रहकर पोलिटेक्निक की पढ़ाई करती थी। उसने 2013 में अपने साथी कैलाश फौजी के साथ मिलकर दो लोगों को किडनैप किया था। इस लेडी डॉन के काम करने का तरीका भी अलग था। पूजा किडपैन किए व्यक्ति को एक दिन से ज्यादा अपने पास नहीं रखती थी। पटना में उसके खिलाफ शास्त्री नगर थाना, कोतवाली थाना और कंकरबाग थाना में कई मामले दर्ज है।

पटना के अलावा उसने मुजफ्फरपुर, शिवहर और मुजफ्फरपुर में अपराधिक घटनाओ को अंजाम दिया, लेकिन पूजा पाठक सुर्खियों में तब आई जब उसे एक किडनैपिंग केस में 2012 में गिरफ्तार किया गया और शिवहर जेल में कुख्यात मुकेश पाठक से उसकी आंखें चार हो गईं। जेल में ही विधि-विधान से दोनों ने शादी की और कुछ दिन बाद वो प्रेग्नेंट हो गई। जेल में कैदी के प्रेगनेंट होने की बात से पूरा जेल महकमा हिल गया था। जांच बैठी तो पता चला कि जेलकर्मियो के सहयोग से मुकेश पाठक और पूजा ने असिस्टेंट जेलर के ऑफिस को अपना बेडरूम बना लिया था।

इस बीच मुकेश पाठक शिवहर सदर अस्पताल में बीमारी के बहाने से गया, वहां रात में जवानों को नशे वाली मिठाई खिलाकर भाग निकला। मुकेश पाठक के भागने के बाद पूजा को शिवहर से मुजफ्फरपुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया, लेकिन यहां भी एक दिन पूजा की तबियत ख़राब हो गई और उसके मां बनने की खबर पूरी जेल में फैल गई। सवाल यही था कि आखिरकार एक कैदी जेल में कैसे गर्भवती बन सकती है। शिवहर जेलर के खिलाफ जांच हुई और उन्हें निलंबित कर दिया गया। जेल में ही पूजा पाठक ने एक बेटी को भी जन्म दिया। कोर्ट में भी लेडी डॉन अपनी सजा सुनने अपनी बेटी को साथ लेकर आई थी। इस दौरान बिहार की इस लेडी डॉन को देखने के लिए कोर्ट में लोगों की भीड़ लग गई थी।