छोटू गैंग ने उड़ाई पाकिस्तान की नींद, खात्मे के लिए लॉन्च किया ऑपरेशन

लाहौर (16 अप्रैल): छोटू गैंग ने पाकिस्तानी सुरक्षाबलों की नींद उड़ा दी है। यह गैंग कई पुलिस अधिकारियों को मौत के घाट उतार चुका है। इससे परेशान पाकिस्तानी पुलिस ने इसे खत्म करने के लिए एक ऑपरेशन लॉन्च किया है। 

गैंग के मुखिया की पहचान गुलाम रसूल उर्फ छोटू के रूप में हुई है जो पंजाब, सिंध और बलूचिस्तान प्रांत के सीमावर्ती क्षेत्रों में सक्रिय है। गैंग ने पानी और घने जंगल से घिरे एक छोटे से द्वीप पर अपने ठिकाने बना रखे हैं। 

हाल ही में छोटू गैंग के सदस्यों ने छह पुलिस वालों की हत्या कर दी थी। जबकि एक नदी के द्वीप पर 27 को बंधक बना लिया। हालांकि इस अभियान में सात गैंगस्टर भी मारे गए। बंधक बनाए गए लोगों को बचाने के लिए सुरक्षाबल भेजे गए हैं। 

गैंग के मुखिया रसूल ने 2007 तक पंजाब पुलिस में मुखबिर का भी काम किया था। स्थानीय लोगों के मुताबिक छोटू बकारनी कबीले से संबंध रखता है। इस कबीले का संबंध पाकिस्तान के मुजफ्फरगढ़ जिले में रोझन इलाके से है।

रसूल ने मीडिया से बात करते हुए पुलिस को साफ तौर पर आत्मसमर्पण करने से मना कर चुका है। रसूल कहना था कि वो सेना का सम्मान करते हैं और उसी के सामने आत्मसमर्पण करेंगे। 

इधर गैंग द्वारा बंधक बनाए गए पुलिसकर्मियों की रिहाई के लिए 1500 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। सेना ने वहां हेलिकॉप्टर गनशिप भी तैनात की है। वहीं पंजाब के कानून मंत्री राणा सनाउल्ला ने कहा कि गिरोह को आत्मसमर्पण करना होगा या उन्हें अगले 24 से 48 घंटों में खत्म कर दिया जाएगा।