कपिल सिब्बल बोले- उपराष्ट्रपति ने जल्दबाजी में खारिज किया महाभियोग प्रस्ताव, जाएंगे कोर्ट

नई दिल्ली (23 अप्रैल): उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। आपको बता दें कि कांग्रेस की अगुवाई में 7 विपक्षी पार्टियों ने उपराष्ट्रपति के सामने ये प्रस्ताव पेश किया था, लेकिन कानूनी सलाह के बाद वेंकैया नायडू ने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। 

वहीं चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव खारिज करने पर कांग्रेस ने उपराष्ट्रपति के फैसले की आलोचना की। कांग्रेस ने कहा कि उपराष्ट्रपति ने बहुत जल्दबाजी में प्रस्ताव को खारिज किया है जबकि उन्होंने किसी विशेषज्ञ से इसके लिए सलाह भी नहीं ली। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद ने यह भी कहा कि इस फैसले के खिलाफ कांग्रेस कोर्ट जाएगी।

LIVE: Press conference by Members of Parliament @KapilSibal, @VTankha and @MPKTSTulsi. https://t.co/jDOxxuBoGH

— Congress Live (@INCIndiaLive) April 23, 2018

सिब्बल ने कहा, 'चीफ जस्टिस के खिलाफ लाए गए महाभियोग के प्रस्ताव को खारिज करने का उपराष्ट्रपति का फैसला तर्कसंगत नहीं है। संवैधानिक नियमों के दायरे में राज्यसभा के सभापति का काम सिर्फ जरूरी सांसदों की संख्या का नंबर देखना होता है और उनके हस्ताक्षरों की जांच करनी होती है। हालांकि, उपराष्ट्रपति को प्रस्ताव खारिज करने से पहले कम से कम कलिजियम की राय तो लेनी ही चाहिए थी, लेकिन फैसला बहुत हड़बड़ी में किया गया। कांग्रेस ने उपराष्ट्रपति के फैसले को निराशाजनक बताते हुए कहा कि कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाएगी।

We'll certainly file a petition (in Supreme Court) against this & would want the CJI to not take any decision with respect to it, be it the listing or anything else, we;ll accept whatever SC decides: Kapil Sibal after impeachment motion against CJI was rejected by Vice President pic.twitter.com/mOBOF0PIeP

— ANI (@ANI) April 23, 2018