'मैं हूं चांद को गीला करने वाला पहला शख्स'

नई दिल्ली (15 जुलाई) :  शनिवार 16 जुलाई को चांद पर मानव के पहला कदम रखने की 47वीं वर्षगांठ है। सब जानते हैं कि चांद पर पहला कदम रखने वाले शख्स का नाम नील आर्मस्ट्रॉन्ग है। वही चांद पर उतरने वाले दूसरे शख्स थे बज़ एल्ड्रिन। अब 86 वर्ष के हो गए एल्ड्रिन ने अपनी आटोबॉयोग्राफिकल किताब 'नो ड्रीम इज़ टू हाई'  में एक मज़ेदार किस्से का उल्लेख किया है।

एल्ड्रिन ने लिखा है कि नील चांद पर पहला कदम रखने वाले शख्स तो मैं वहां यूरिन ब्लैडर खाली (पेशाब) करने वाला पहला शख्स हूं। एल्ड्रिन ने लिखा है कि नील ने एक छोटा कदम आदमी के लिए उठाया और मानवता के लिए बड़ा कदम। इसी तरह मैंने मानव के लिए एक छोटा कदम उठाया और मानवता के लिए बड़ा लीक किया।