लड़की के अंडरगार्मेंट्स ने ऐसे खोला हत्या का राज

नई दिल्ली (1 नवंबर): कहते हैं अपराधी कितना भी चालाक हो, लेकिन वह कोई ना कोई सबूत छोड़ ही देता है। ऐसा ही एक मामला राजधानी दिल्ली से सामने आया है, जहां के राजीव चौक पर पांच दिन पहले मिले किशोरी के शव की शिनाख्त होने के बाद मामले में नया मोड़ आ गया है।

किशोरी के पोस्टमॉर्टम के दौरान उसके कपड़ों से एक चिट बरामद की गई थी। इस पर 5 मोबाइल नंबर लिखे थे। पुलिस इन नंबरों को सर्विलांस पर लेकर मृतका के परिजनों तक पहुंची। पूछताछ में प्रेम-प्रसंग की बात सामने आने के बाद पुलिस अब हॉरर किलिंग के ऐंगल से मामले की जांच कर रही है। माना जा रहा है कि लड़की ने हत्या की आशंका के चलते अपने कपड़ों में नंबर लिखी चिट छुपाई थी।

27 अक्टूबर को सुबह करीब साढ़े 7 बजे राजीव चौक पर लोगों ने एक बोरा पड़ा देखा। बोरे से बदबू आ रही थी और वह फट चुका था। लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तफ्तीश की तो बोरे से एक शव मिला। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम कराया तो पता चला कि शव एक 17 वर्षीय किशोरी का था। उसके अंडरगारमेंट से एक पर्ची मिली। इसमें 5 मोबाइल नंबर लिखे थे। पुलिस ने इन नंबरों को जांच का आधार बनाया। पुलिस की पांच टीमें केस की जांच में जुट गईं। सभी नंबरों की सीडीआर निकलवाई गई। इनके आधार पर पुलिस किशोरी के परिवार तक पहुंच गई। जांच में पता चला कि उसका परिवार मूलरूप से यूपी के बदायूं का रहने वाला है। कुछ साल से परिवार कड़कड़डूमा एरिया में रह रहा है। किशोरी के मां-बाप और उसके भाई ने शव की शिनाख्त की।

परिजनों से पूछताछ में पता चला कि किशोरी की उसके पड़ोस में रहने वाले युवक से नजदीकियां थीं। वह उसके साथ कई बार घर से भाग चुकी थी। लड़की के परिजनों ने युवक के खिलाफ किडनैपिंग का केस दर्ज करवाया था। फिलहाल युवक जमानत पर बाहर है। इस वजह से दोनों परिवारों के बीच अनबन भी हुई थी। जांच में पता चला है कि लड़की के परिजनों ने युवक के परिजनों से कहा था कि वे अपने बेटे को उनकी बेटी से दूर रखें। वे अपनी बेटी को संभाल लेंगे। किशोरी के पिता ने पूछताछ में बताया कि उनकी बेटी दिवाली के अगले दिन से गायब थी। हैरत की बात है कि परिवार ने उसकी गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई। इसके बाद 27 अक्टूबर को उसका शव गुड़गांव में मिला। ऐसे में पुलिस की जांच हॉरर किलिंग की ओर बढ़ रही है।