स्मोकिंग की लत से परेशान लोगों के लिए जरूरी खबर...

नई दिल्ली (16 मार्च): स्मोकिंग की लत से परेशान लोगों के लिए एक जरूरी खबर है। जो लोग भी सिगेरट छोड़ना चाहते हैं, वे अगर इसे एक साथ छोड़ते हैं, तो इससे परहेज करने में उन लोगों की तुलना में ज्यादा सफल हो सकते हैं। जो कि इसे धीमे-धीमे छोड़ने की कोशिश करते हैं।

'एक्सप्रेस ट्रिब्यून' की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड की पोस्ट-डॉक्टोरल रीसर्चर निकोल लिन्डसन- हॉले का ने यह दावा किया है। उनका कहना है, "कई लोगों के लिए स्मोकिंग छोड़ने के लिए एक तरीका होता है, कि वे इसे धीमे धीमे छोड़ें, जब तक ये लत खत्म ना हो जाए।" 

रीसर्चर ने बताया कि हालांकि, यह रीसर्च सुझाव देती है कि जो लोग भी इसे छोड़ना चाहते हैं, वे इसे एक साथ ही छोड़ दें। इसको साबित करने के लिए वैज्ञानिक सबूत भी मिले हैं। उन्होंने बताया यह रीसर्च 700 व्यस्क लोगों पर किए गए विश्लेषण पर आधारित है। जिसमें दो समूहों में लोगों को बांटा गया। इनमें से एक समूह में वे लोग थे, जिन्होंने एक साथ सिगरेट छोड़ने का फैसला किया। जबकि, दूसरे समूह में वो लोग थे, जिन्होंने धीमे धीमे स्मोकिंग से परहेज करने का फैसला किया। 

इन सभी पर 6 महीनों तक प्रयोग किया गया। जिसके आधार पर यह नतीजे सामने आए हैं। आंकड़ों के मुताबिक, विश्लेषण के 4 सप्ताह के बाद पहले समूह में 49 फीसदी लोग परहेज करने में सफल हुए। जबकि दूसरे समूह में 40 फीसदी। इसी तरह 6 महीने के बाद पहले समूह में 22 फीसदी लोग जबकि दूसरे समूह में 15 फीसदी लोग ही सिगरेट से परहेज करने में कामयाब रहे। 14 मार्च को इंटरनल मेडिसिन की रिपोर्ट में यह आंकड़ें सामने आए हैं।