ISIS से आजादी का इराक के लोगों ने मनाया जश्न, पुरुषों ने कटवाई दाढ़ी

नई दिल्ली ( 4 नवंबर ) : इराक में लोग अब खुंखार आतंकी संगठन isis से आजादी का जश्न मना रहे हैं। इराक में मोसुल के पास एक गांव में आईएस आतंकियों से आजादी का जश्न मनाया गया। गांव के पुरुषों ने आतंकियों से पीछा छूटते ही अपनी दाढ़ी कटवाई। गांव के कई बुजुर्ग खुशी में इराकी सेना के जवानों के चूमते नजर आए। मोसुल इराक का आखिरी शहर है, जो आतंकियों के कंट्रोल में है। इसे भी इराकी सेना ने घेर लिया और जंग जारी बताई जा रही है। 

- इराकी सेना ने मोसुल को घेर रखा है और आस-पास के इलाकों से आतंकियों को खदेड़ दिया है।  - गोगजली गांव के लोगों ने यहां की मस्जिद में शरण ले रखी थी, ताकि सेना के जवान घर-घर जाकर ये चेक कर सकें कि कोई आतंकी बचा नहीं है। - आजादी का इजहार करने के लिए कई पुरूषों ने तो मस्जिद के अंदर ही दाढ़ी कटवा डाली।  - आईएस आतंकियों के राज में सभी नागरिकों के लिए दाढ़ी रखना और हिजाब पहनना जरूरी था। - कई पुरुष आजादी से सिगरेट पीते दिखे। दो साल पहले आईएस के कब्जे के बाद से यहां सिगरेट पर पाबंदी थी।  - बच्चे इराकी सेना के जवानों से हाथ मिलाने के लिए बेताब दिखे। वहीं, गांव के बुजुर्ग ने जवानों को चूमकर अपनी खुशी जताई। - महिलाओं और बच्चे ने भी मस्जिद के अंदर ही शरण ले रखी थी। गांव में आतंकियों को मारा - गोगजली गांव में इराकी फोर्स ने घर-घर में घुसकर करीब आठ आईएस आतंकियों को मार गिराया। - छह आतंकी टनल के अंदर मारे गए, जबकि बाकी के दो विस्फोटकों से लदी जैकेट पहनने के वक्त मारा गया। - काउंटर टेरेरिज्म फोर्स के कमांडर जनरल अब्दुल घानी अल-असादी ने बताया कि आस-पास के इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है। ताकि आतंकी खदेड़े जा सकें। - परिवारों की सुरक्षा के लिए भी कर्फ्यू लगाया गया है और उन्हें घरों के अंदर ही रहने को कहा गया है।