जज्बे को सलाम, 91 साल की उम्र में महिला ने किया ग्रेजुएशन

नई दिल्ली (11 जुलाई): कहते हैं पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती। इसे एकबार फिर सच साबित किया है 91 साल की एक महिला ने। 91 साल की एक महिला ने नाती-पोते की मदद से ग्रेजुएशन किया है। थाईलैंड के फायाओ की रहने वाली 91 साल की किमलुन ने पैसों की कमी के चलते अपनी छोड़ दी थी। लेकिन अपने नाती और पोतों को डिग्रियां लेते और नौकरियां करते देख उसने एक बार फिर पढ़ाई करने की ठानी। 91 साल की उम्र में किमलुन ने ग्रेजुएशन किया।

यूनिवर्सिटी ने कहा कि किमलुन को पढ़ाई के दौरान कोई अलग या खास सुविधा नहीं दी गयी। वे कई परीक्षाओं में फेल भी हुईं। लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी। किमलुन का कहना है कि यूनिवर्सिटी ने उनकी काफी मदद की। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उसे ग्राउंड फ्लोर पर कमरे दिये ताकि सीढ़ियां ना चढ़नी पड़ें।

आपको बता दें कि थमथिरिरेट ओपन यूनिवर्सिटी थाईलैंड की पहली यूनिवर्सिटी है जो उम्रदराज लोगों के लिए डिस्टेंस लर्निंग के कोर्स कराती है। इस यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले लगभग 200 से भी ज्यादा लोगों की उम्र 60 से ज्यादा है।