'अगर परमाणु हथियार हाथ लगे, तो जरूर इस्तेमाल करेंगे आतंकी '

नई दिल्ली (2 अप्रैल): अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सावधान करते हुए कहा है कि अल कायदा और आईएस के हाथ अगर परमाणु हथियार लग गए, तो वे जरूर ही इनका इस्तेमाल करेंगे। 

ओबामा ने चेतावनी के साथ न्यूक्लियर सिक्योरिटी समिट (एनएसएस) के एक दिन के बाद ऐसा कहा है। जिसमें भारत समेत 50 देशों ने भाग लिया।

'इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, ओबामा ने वेबसाइट पर अपने साप्ताहिक और रेडियो पर मासिक उद्बोधन में कहा, "सौभाग्य से हमारे प्रयासों से अभी तक कोई भी आतंकी संगठन परमाणु हथियार पाने या रेडियोएक्टिव पदार्थों से डर्टी बम बनाने में कामयाब नहीं हुआ है।"

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, "हम जानते हैं कि अलकायदा कोशिश कर चुका है। आईएस ने सीरिया और इराक में केमिकल वेपन इस्तेमाल किए हैं। इसलिए अगर वे न्यूक्लियर वेपन या न्यूक्लियर मेटीरियल पर कब्जा कर लेते हैं तो वे निसंदेह इस्तेमाल करेंगे।" 

उन्होंने कहा, "इसीलिए, हम वैश्विक स्तर पर कोशिश कर रहे हैं कि हम दुनिया भर के न्यूक्लियर मैटीरियल्स की सुरक्षा करें। इन सम्मेलनों के जरिए, हमने एक अहम तरक्की की है। दूसरों देशों के साथ काम करते हुए, हमने 150 से भी ज्यादा न्यूक्लियर वेपन्स से काफी न्यूक्लियर मैटीरियल हटा लिया है या सुरक्षित किया है। यह मैटीरियल अब आतंकियों के हाथ कभी नहीं लगेगा।"

ओबामा ने कहा कि पूरा दक्षिण अमेरिका इन खतरनाक मैटीरियल्स से मुक्त है। इसके अलावा सेंट्रल यूरोप और दक्षिण पूर्वी एशिया भी इस साल के अंत तक ऐसा करने में इसी रास्ते पर है।