कश्मीर मेंं दंगाईयों को काबू करना दोधारी तलवार, भीड़ को सुरक्षा कवच बना रहे हैं आतंकी

नई दिल्ली (13 जुलाई): पाकिस्तान के पालतू आतंकवादियों ने कशमीर में अपनी रणनीति को बदल दिया है। अब वो आमने-सामने की मुठभेड़ से बच रहे हैं, और अफवाह और अफरातफरी फैलाकर भीड की आड़ से सुरक्षाबलों पर हमले कर रहे हैं। सुरक्षा बलों के सामने इस वक्त कश्मीर में दोधारी तलवार पर चलने जैसा अनुभव हो रहा है। अगर सुरक्षबल भीड़ को नियंत्रण करने के लिए बल प्रयोग करते हैं तो निर्दोष लोग शिकार होते है और कुछ नहीं करते हैं तो उन्हें अपनी जान गवानी पड़ती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीते शुक्रवार को भी ऐसा ही दमहाल हांजी पोरा में हुआ। भीड़ को उकसा कर आतंकी थाने में घुस गये और 70 से ज्यादा रायफल लूट कर ले गये। इसी तरह का एक प्रयास बीते रोज मंगलवार को भी किया गया। लेकिन सुरक्षाबलों ने सूझबूझ से भीड़ पर नियंत्रण कर लिया।  

 कश्मीर में आतंकियों ने बदली रणनीति-

* भीड़ को सुरक्षा कवच की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं आतंकवादी 

* पहले अफवाह फैलाकर भीड़ को उकसाते हैं और फिर भीड़ के बीच से सुरक्षा बलों पर हमला करते हैं

* दमहाल के हांजी पोरा में एक थाने में भीड़ के बीच घुसे आतंकियों ने 70 रायफल लूट लीं

* लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मुहम्मद जैसे आतंकी गिरोह सिखा रहे हैं, सुरक्षा बलों से लड़ने के तरीके