रक्षा मंत्री ने माना चूक हुई, लेकिन सुरक्षा से नहीं होगा समझौता

नई दिल्‍ली (5 जनवरी): रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने पठानकोट एयरबेस में ऑपरेशन बंद होने की आधिकारिक पुष्टि की। उन्होंने माना कि इटेलिजेंस इनपुट से लेकर ऑपरेशन में कुछ गैप्स थे। यह जांच में साफ होगा कि चूक कहां रह गई, लेकिन जहां तक सुरक्षा की बात है तो सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया गया।

रक्षा मंत्री ने कहा कि यह ऑपरेशन मात्र 38 घंटे ही चला था। उसके बाद जो जारी है वह कॉम्बिंग ऑपरेशन है, जो कि सुरक्षा कि दृष्टि से बेहद जरूरी है। आतंकियों के पास से पाकिस्तान में बने सामान मिले हैं। मेरी चिंता इस बात को लेकर है कि ये आतंकी अंदर कैसे पहुंचे? इस ऑपरेशन में कुल 6 आतंकी ढेर हुए हैं जिनमें से 2 आतंकियों के शव बुरी तरह जले हुए थे। उन्‍होंने कहा कि पीएम से फोन पर बात हुई है। इसी के साथ उन्‍होंने जानकारी दी कि एनआईए आतंकियों के डीएनए टेस्ट करेगी। इस हमले में एयरबेस को बिल्कुल नुकसान नहीं हुआ, जहां 2 आतंकी छुपे थे वहां थोड़ा नुकसान हुआ है।

पार्रिकर ने जवानों को बधाई देते हुए कहा कि वह आतंकियों को एक कोने में रोके रखने में कामयाब रहे और ज्यादा नुकसान नहीं होने पाया। आतंकियों का संबंध किसके साथ था यह जांच के बाद ही साफ होगा। हमने सुरक्षा में कोई कांप्रोमाइज नहीं किया। उन्‍होंने बताया कि आतंकी एके-47, ग्रेनेड और 40-50 किलो गोलियां लाए थे।