टैरर फण्डिंग कैंप्स को प्रोटेक्शन दे रही है पाकिस्तानी सरकार

नई दिल्ली (4 जुलाई): आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई का ढोंग करने वाली पाकिस्तान सरकार आतंकियों को न आर्थिक मदद मुहैया करवा रही बल्कि सरकारी एजेंसियों की संरक्षण में आतंकी चंदा भी उगाह रहे हैं। पाकिस्तानी एजेंसियों के संरक्षण में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा की शाखा फलह-ए-इंसानियत ने हाल ही में गुलाम कश्मीर में आतंकी गतिविधियों के लिए खुलेआम डोनेशन कैंप लगाया।

टेरर फंडिंग के लिए लगे कैंप में जो बैनर लगाए गए थे उसमें हाफिज सईद की तस्वीरें थीं। कुछ बैनरों पर हाफिज सईद के अलावा सैयद अली शाह गिलानी, आसिया अंद्राबी जैसे कश्मीरी अलगाववादियों की भी तस्वीरें थीं। इस साल जनवरी में पंजाब की प्रांतीय सरकार ने हाफिज सईद और उसके 4 साथियों को शांति और सुरक्षा के लिए खतरा मानते हुए हाउस अरेस्ट किया था। साल 2008 के मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को भारत और अमेरिका दोनों को तलाश है। मुंबई आतंकी हमले में 166 लोगों की मौत हुई थी। अमेरिका ने हाफिज के सिर पर एक करोड़ अमेरिकी डॉलर यानी करीब 66 करोड़ रुपये का इनाम रखा है।