'पूजा स्थलों में महिलाओं के प्रवेश पर समाज करे फैसला'

नई दिल्ली (30 जनवरी): महाराष्ट्र के शनि शिंगनापुर मंदिर और अन्य पवित्र स्थलों में महिलाओं के प्रवेश की मांग के बीच महिला, बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने शुक्रवार को कहा कि इस मामले को समाज पर फैसला लेने के लिए छोड़ देना चाहिए।

अंग्रेजी अखबार 'द इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, मेनका गांधी ने कहा, "समाज इसे खुद ही तय करेगा। इसपर कोई भी राजनैतिक बयान नहीं दिया जाना चाहिए।"

महिला संगठन, महाराष्ट्र के शनि शिंगनापुर मंदिर के भीतर महिला श्रृद्धालुओं के प्रवेश पर सदियों पुराने प्रतिबंध के खिलाफ अभियान चलाते रहे हैं। 400 से भी ज्यादा महिलाओं ने इस परंपरा के खिलाफ विरोध शुरू किया था। जिसमें मंदिर के चबूतरे पर उनके आने की इजाज़त नहीं थी। यहां केवल पुरुष ही शनि देवता की पूजा करने के लिए आ सकते हैं।

इन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को एक ज्ञापन भी सौंपा था, जिसमें उनसे राज्य के मंदिरों और दूसरे पवित्र स्थलों में महिलाओं के प्रवेश को लेकर होने वाले लैंगिक भेदभाव के खिलाफ मदद की मांग की थी।