Blog single photo

4 दशक बाद मैच में होगी टेलस्टर बॉल की वापसी

रूस में 14 जून से 21वें फुटबॉल विश्वकप की शुरुआत होने जा रही है। यहां पर 32 देशों के खिलाड़ी 12 स्टेडियम में विश्वकप को अपने नाम करने के लिए धाबा बोलेंगे।

नई दिल्ली (4 जून): रूस में 14 जून से 21वें फुटबॉल विश्वकप की शुरुआत होने जा रही है। यहां पर 32 देशों के खिलाड़ी 12 स्टेडियम में विश्वकप को अपने नाम करने के लिए धाबा बोलेंगे।हर बार विश्वकप में यूज होने वाली बाॅल को लेकर चारो तरफ चर्चाएं शुरु हो जाती है। 2010 में दक्षिण अफ्रीका में जाबुलानी तो 2014 में ब्राजील में ब्राज़ूका गेंद फुटबॉल विशेषज्ञों के बीच चर्चा में रही।वहीं, इस बार 1970 और 1974 विश्वकप में इस्तेमाल किए गए टेलस्टर बॉल की वापसी की खबरें आ रही हैं। आपको बता दें कि इसमें 32 की जगह 6 पैनल होंगे। खास यह है कि इसमें चिप लगाई गई है।इसके जरिए गेंद को स्मार्ट फोन से कनेक्ट कर खेल से जुड़े कई अहम आंकड़े हासिल किए जा सकते हैं। यह गेंद आम लोगों और खिलाड़ियों के खरीदने के लिए भी उपलब्ध है। आपको बता दें कि इसे पाकिस्तान में बनाया गया है।टेलस्टर-18 का उपयोग रूस में वर्ल्ड कप मैचों के दौरान किया जाएगा। 1970 टेलस्टर बॉल की तरह ही इसको डिजाइन किया गया है। गेंद में केवल छह पैनल वॉल हैं जबकि पुराने टेलस्टर में 32 पैनल वॉल एक साथ थे। इस बार इसकी सतह को भी 3डी डिजाइन में बनाया गया है।टेलस्टर-18 में एनएफसी माइक्रोचिप लगा हुआ है। इससे एडिडास कंपनी के उपभोक्ता मोबाइल को सीधे गेंद से जोड़ सकते हैं, जो कि उन्हें पैर से लगे शॉट और हेडर सहित अन्य जानाकरियां देगा। 1994 में अमेरिका हुए विश्वकप के बाद पहली बार गेंद सिर्फ काले और सफेद रंग में होगा।

Tags :

NEXT STORY
Top