4G भरेगा टेलीकॉम कंपनियों की झोली, कमाएंगे 80,000 करोड़

नई दिल्ली (8 सितंबर): रिलायंस जियो से देशभर के करोड़ों यूजर्स को फायदा होने वाला हैं, इस खबर के बारे में मीडिया में काफी तफतीश से दिखाया जा रहा है। लेकिन हम आपको बताएंगे कि इससे सिर्फ यूजर्स ही नहीं बल्कि टेलीकॉम कंपनियों भी माला-माल हो जाएंगी।

जानकारों की मानें तो टेलीकॉम इंडस्ट्री का 4जी रेवेन्यू अगले कुछ सालों में 80,000 करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा।

एसोचैम-केपीएमजी की रिपोर्ट के मुताबिक... - इससे इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स का रेवेन्यू का ढांचा बदल जाएगा। - 2020 तक हाई स्पीड 4जी कनेक्शन वाले टोटल नेट यूजर्स का 17 फीसदी होंगे। - टेलीकॉम इंडस्ट्री के बिजनेस फॉर्मेट में बड़ा बदलाव होने जा रह है। - एक बड़े कॉरपोरेट हाउस की तरफ से बड़े पैमाने पर 4जी सर्विस शुरू करना अहम घटनाक्रम है। - डेटा मार्केट की संभावना का ढंग से एक तिहाई भी इस्तेमाल नहीं किया गया है। - ज्यादातर स्थापित और एक नए खिलाड़ी के लिए इसमें पूरी गुंजाइश होगी। - हालांकि, कन्ज्यूमर्स के पास सस्ते टैरिफ के ज्यादा विकल्प होंगे। - भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मार्केट है। - फरवरी 2016 के आखिर में देश में मोबाइल के 60.8 करोड़ शहरी और 44.4 करोड़ ग्रामीण उपभोक्ता थे।

भारती एयरटेल, वोडाफोन इंडिया, आइडिया सेल्युलर और आरकॉम भी देशभर में हाई स्पीड 4जी एलटीई सर्विसेज लॉन्च कर रही हैं।