तेलंगाना में मुसलमानों के लिए बढ़ा आरक्षण, 4 से 12 हुआ फीसदी

नई दिल्ली (17 अप्रैल): तेलंगाना सरकार ने बिल पास करके मुसलमानों को आरक्षण की सीमा बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण ना देने की हिदायत को किनारे रखते हुए के चंद्रशेखर राव सरकार ने पिछड़े मुसलमानों के आरक्षण को 12 फीसदी तक कर दिया है।


विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर राज्य सरकार ने ध्वनिमत से इस विधेयक को पारित कर दिया है। बीजेपी के 5 विधायकों ने इसका विरोध किया था, लेकिन फिर भी इसे पारित कर दिया गया। राज्य में मुसलमानों को अबतक 4 फीसदी आरक्षण मिलता था, जिसे बढ़ाकर अब 12 फीसदी कर दिया गया है।


इस विधेयक के तहत अनुसूचित जनजाति के लिये आरक्षण को मौजूदा 6 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दिया गया है जबकि बीसी-ई (मुस्लिम समुदाय के पिछड़ा वर्ग) के लिए इसे मौजूदा 4 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है। इसके परिणामस्वरूप राज्य में कुल आरक्षण मौजूदा 50 फीसदी से बढ़कर 62 फीसदी हो जाएगा।