Blog single photo

KCR ने ममता बनर्जी से की मुलाकात, तीसरे मोर्चे की कवायद तेज

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेस दलों को एकसाथ लाने की कवायद में जुटे तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के मुखिया के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा, 'हमारी बातचीत जारी रहेगी, जल्द ही हम एक मजबूत योजना के साथ आगे आएंगे। हम चीजों को लेकर बातचीत कर रहे हैं। मैं अपने प्रयासों को जारी रखूंगा।'

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 दिसंबर): लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेस दलों को एकसाथ लाने की कवायद में जुटे तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के मुखिया के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा, 'हमारी बातचीत जारी रहेगी, जल्द ही हम एक मजबूत योजना के साथ आगे आएंगे। हम चीजों को लेकर बातचीत कर रहे हैं। मैं अपने प्रयासों को जारी रखूंगा।'राव ने कहा, ‘दीदी (ममता) के साथ चर्चा हमेशा होती है। जब दो राजनीतिक नेता मिलते हैं, तो वे निश्चित रूप से आपसी हित और राष्ट्रीय सुखद चर्चा हुई। हम अपनी चर्चा जारी रखेंगे। एक संवाद है जो मैंने रविवार को शुरू किया था। मैं कल ओडिशा के मुख्यमंत्री से मिला और आज मैं दीदी से मिला।’  

के. चंद्रशेखर राव ने मोर्चे की कवायद को लेकर रविवार को ओडिशा के मुख्‍यमंत्री और बीजेडी के अध्‍यक्ष नवीन पटनायक से भी मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद टीआरएस प्रमुख ने कहा, 'वर्ष 2019 के चुनावों से पहले देश को बीजेपी और कांग्रेस का विकल्प देने के लिए क्षेत्रीय दलों के एकजुट होने की गहरी जरूरत है।' 

टीआरएस प्रमुख राव ने पटनायक से भेंट करने के बाद यह भी कहा था, 'मैं निश्चित तौर पर यह कह सकता हूं कि देश में इस समय क्षेत्रीय दलों के एकीकरण की सख्त आवश्यकता है। हमारा मजबूती से मानना है कि कांग्रेस और बीजेपी का एक विकल्प हो सकता है।'

टीआरएस के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव की संघीय मोर्चा बनाने की कवायद को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को उन पर अलगाव की राजनीति करने का आरोप लगाया। इसके साथ ही कांग्रेस ने दावा किया कि वह केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी की मदद कर रहे हैं। कांग्रेस ने यह भी कहा कि टीआरएस प्रमुख के झांसे में कोई नहीं आने वाला है।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने विश्वास जताया कि अगले चुनावों (लोकसभा चुनाव 2019) के बाद कांग्रेस विजेता बनकर उभरेगी। सिंघवी ने टीआरएस प्रमुख के प्रस्ताव के बारे में पूछे जाने पर दिल्ली में पत्रकारों से कहा,‘यदि आप बहिष्कार की बात करते हैं और कांग्रेस के साथ सहयोगी बनने की इच्छा रखने वाले के सहयोगी नहीं बनना चाहते हैं तो आप अलगाव की राजनीति कर रहे है और आप सत्ताधारी पार्टी की मदद करना चाहते है। मेरा मानना है कि अन्य पार्टियां इस झांसे में नहीं आएंगी।’

Tags :

NEXT STORY
Top