#AAMNESAAMNE में बोले तेजस्वी- मुलायम सुलझा लेंगे परिवार का झगड़ा, नीतीश-लालू में नहीं मतभेद


नई दिल्ली (5 नवंबर): समाजवादी पार्टी लखनऊ में अपना 25वां स्थापना दिवस मना रही है। न्यूज़24 के खास कार्यक्रम आमने-सामने में एडिटर-इन-चीफ अनुराधा प्रसाद से बात करते हुए बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुलायम परिवार और पार्टी में जारी घमासान पर खुलकर बोला। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को सलाह देते हुए कहा कि परिवार में मतभेद घर और परिवार दोनों को तोड़ देता है। साथ ही उन्होंने भरोसा जताया कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव जल्द ही इस संकट को सुलझा लेंगे।

तेजस्वी यादव ने आमने-सामने में कई मुद्दों पर खुलकर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि राजद परिवार हमेशा मुलायम सिंह जी का समर्थन करता रहा है। अखिलेश यादव से अपनी तुलना किए जाने पर तेजस्वी यादव ने कहा कि अखिलेश यादव उनसे काफी आगे हैं और मुख्यमंत्री बनने से पहले वे विधायक और सांसद रह चुके हैं।

तेजस्वी यादव बिहार के उप मुख्यमंत्री हैं तो उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव सरकार में मंत्री हैं। जब उनसे पूछा गया कि आपके अपने बड़े भाई तेज प्रताप यादव से किसी तरह के मतभेद हैं तो उन्होंने इससे इनकार करते हुए कहा की वो अपने बड़े भाई तेज प्रताप यादव का बहुत सम्मान करते हैं, उनका पद पार्टी ने तय किया है और दोनों पार्टी की ओर से दी गई जिम्मेदारी को पूरा करने में जुटे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि पद नहीं काम आदमी को बड़ा बनाता है।

तेजस्वी यादव ने अपने व्यक्तिगत जीवन से संबंधित सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मैंने कभी भी ये दावा नहीं किया की मैं एक परिपक्व नेता हूं, हां लेकिन मुझमें हर वक्त कुछ नया सीखने की ललक है। डिग्री से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि डिग्री से ज्यादा महत्व अनुभव का होता है, हालांकि तेजस्वी यादव ने इस बात को माना कि उनसे गलती हुई, उन्हें इस बात का दुख है कि उन्होंने 9वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी। साथ ही उन्होंने कहा कि जब भी उन्हें मौका मिलेगा वो जरूर आगे की पढ़ाई करेंगे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जेडीयू के साथ मतभेदों के सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि गठबंधन में किसी तरह का कोई मतभेद नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में फिलहाल मुख्यमंत्री का पद खाली नहीं है, नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं और आगे भी रहेंगे। उन्होंने कहा कि ये सब बीजेपी की ओर से फैलाई गई अफवाह है। बीजेपी में खुद सुशील मोदी और प्रेम कुमार में जबर्दस्त घमासान चल रहा है। बीजेपी मतभेद पैदा करने से लिए ये अफवाह फैला रही है कि "लालू यादव सरकार चले रहे हैं"।

बाहुबली नेता शहाबुद्दीन के मुद्दे पर बोलते हुए तेजस्वी यादव ने साफ किया कि शहाबुद्दीन के मसले पर नीतीश कुमार और उनके पिता लालू प्रसाद यादव के बीच कोई मतभेद नहीं है। तेजस्वी यादव ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की शहाबुद्दीन लालू जी को अपना नेता मानते हैं तो अनंत कुमार नीतीश कुमार को अपना नेता।